जम्मू-कश्मीर सरकार को ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ अभियान के पोस्टर में कश्मीर की अलगाववादी नेता आसिया अंद्राबी की तस्वीर प्रकाशित होने से शर्मिंदगी का सामना करना पड़ा है. हिदुस्तान टाइम्स के अनुसार अनंतनाग में बाल विकास परियोजना अधिकारी की ओर से जारी बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ पोस्टर में आसिया अंद्राबी की तस्वीर को पहली पंक्ति में मदर टेरेसा के बाद प्रकाशित किया गया है. इसी पंक्ति में मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती की तस्वीर भी है.

रिपोर्ट के मुताबिक यह विवादित बैनर दक्षिण कश्मीर के कोकेरंग इलाके में लड़कियों की शिक्षा को बढ़ावा के लिए आयोजित एक कार्यक्रम में लगाया गया था. इसमें पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी, अंतरिक्ष यात्री कल्पना चावला, टेनिस खिलाड़ी सानिया मिर्जा, भारतीय पुलिस सेवा की पूर्व अधिकारी किरण बेदी, मशहूर गायिका लता मंगेशकर, प्रसिद्ध कश्मीरी कवयित्री हब्बा खातून के साथ अंद्राबी को जगह दी गई थी. उधर, यह मामला सामने आने के बाद प्रशासन ने जांच का आदेश दिया है. समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार अनंतनाग के उपायुक्त मोहम्मद यूनुस मलिक ने जानकारी दी है कि बाल विकास परियोजना अधिकारी शमीमा को निलंबित कर दिया गया है.

अलगाववादी नेता आसिया अंद्राबी कश्मीर के पाकिस्तान में विलय की मांग करने वाले संगठन दुखतरान-ए-मिल्लत की अध्यक्ष हैं. उन पर पाकिस्तान के स्वतंत्रता दिवस और राष्ट्रीय दिवस के मौके पर कश्मीर में पाकिस्तानी झंडा लहराने जैसे कई राष्ट्रविरोधी मामले दर्ज हैं. फिलहाल वे जेल में हैं.