दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की कार चोरी हो गई है. यह वही नीली वैगन-आर है जो एक समय केजरीवाल की पहचान हुआ करती थी और माना जाता है कि इसने भी उनकी ‘आम आदमी’ की छवि गढ़ने में अहम भूमिका निभाई थी. दिल्ली विधानसभा चुनाव के पहले ‘आम आदमी पार्टी’ को चंदे में यह कार मिली थी और जब भी अरविंद केजरीवाल इस कार में दिखते थे सोशल मीडिया पर इसकी चर्चा जरूर होती थी. हालांकि मुख्यमंत्री बनने के बाद उन्होंने इसका इस्तेमाल छोड़ दिया था. फिलहाल यह कार एक पार्टी कार्यकर्ता के पास थी. यह कार अति-सुरक्षित माने जानेवाले दिल्ली सचिवालय के बाहर से चोरी हुई है और सोशल मीडिया में आम आदमी पार्टी के समर्थकों सहित कई लोगों ने इस घटना के हवाले से दिल्ली की सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल उठाए हैं. किशलय शर्मा ने ट्वीट किया है, ‘केजरीवाल की कार दिल्ली सचिवालय के पास से चोरी हो गई है. केंद्र सरकार दिल्ली वालों को पूरी सुरक्षा उपलब्ध करवा रही है.’

इस खबर पर मजेदार राजनीतिक टिप्पणियां भी आई हैं. ट्विटर हैंडल‏ @Vishj05 पर प्रतिक्रिया है, ‘ दिल्ली में हुई दूसरी हाई प्रोफाइल चोरी है. इससे पहले आप सरकार द्वारा फ्री वाई-फाई के लिए लगवाए गए राउटर्स चोरी हुए थे.’ अंकित सिंह ने चुटकी ली है, ‘अरविंद केजरीवाल की विश्व प्रसिद्ध नीली वैगन आर चोरी हो गई है. अब वे कहेंगे – मैंने मोदी को अपनी कार चलाते हुए देखा था...’

बहुचर्चित आरुषि-हेमराज हत्याकांड में इलाहाबाद हाई कोर्ट ने फैसला सुना दिया है. अदालत ने डॉक्टर दंपति राजेश तलवार और नुपुर तलवार को संदेह का लाभ देते हुए बरी कर दिया है. हाई कोर्ट ने यह फैसला डॉक्टर दंपति की अपील पर सुनाया है. इससे पहले निचली अदालत ने तलवार दंपति को अपनी बेटी आरुषि और नौकर हेमराज की हत्या का दोषी माना था और उम्र कैद की सजा सुनवाई थी. हाई कोर्ट ने गाजियाबाद की डासना जेल में बंद तलवार दंपति को रिहा करने का भी आदेश दिया है. आज दोपहर से यह खबर सोशल मीडिया पर ट्रेंड कर रही है और यहां एक बड़े तबके ने इस फैसले का स्वागत किया है. फिल्म निर्माता और निर्देशक विशाल भारद्वाज का ट्वीट है, ‘इंसाफ में देरी का मतलब नाइंसाफी नहीं है. बरी होने (तलवार दंपति के) की खबर सुनकर अभिभूत हूं और भारी राहत महसूस कर रहा हूं.’ इस घटना बनी फिल्म ‘तलवार’ के निर्माताओं में विशाल भारद्वाज भी शामिल थे.

इस घटना की जांच में बरती गई लापरवाही का जिक्र करते हुए कई लोगों ने उत्तर प्रदेश पुलिस और सीबीआई पर सवाल उठाए हैं और संबंधित अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है. धीरज श्रीवास्तव का ट्वीट है, ‘तलवार दंपति को कई साल जेल में गुजारने पड़े हैं. उनका यह वक्त कौन लौटाएगा? उनको जेल भेजे जाने के लिए दोषी कौन है?’ सोशल मीडिया पर एक तबके का यह भी कहना है कि इस मामले में पूरा न्याय नहीं हुआ. वरिष्ठ पत्रकार राजदीप सरदेसाई की टिप्पणी है, ‘तलवार दंपति के साथ न्याय हुआ है लेकिन आरुषि और हेमराज के साथ नहीं. हम अब तक नहीं जानते कि उन्हें किसने मारा... ’

इन दोनों खबरों पर सोशल मीडिया में आई कुछ और प्रतिक्रियाएं :

द लाइंग लामा |‏ @KyaUkhaadLega

केजरीवाल की कार चोरी होने पर लोग चिंता क्यों जता रहे हैं? चोर उसे जहां भी ले जाएंगे, वह यू-टर्न लेगी और वापस आ जाएगी.

सुनी शेट्टी | @sunil_ss7

जिसने भी केजरीवाल की कार ऑड डे पर चुराई है, वह ईवन डे पर इसे वापस कर देगा.

किशन बुंदीमट्ट | @KishanBundi

केजरीवाल इतने आम आदमी हैं कि उनकी कार चोरी हो गई.

आप इन न्यूज अर्काइव |‏ @AAPNewsArchive

जब अरविंद केजरीवाल गणतंत्र दिवस समारोह में अपनी नीली वैगन आर से पहुंचे थे.

लोन क्रूसेडर | @seriousfunnyguy

दिल्ली पुलिस को केजरीवाल की कार कभी नहीं मिल पाएगी. अब तक उसने कई बार अपना रंग बदल लिया होगा...

रेशमी दासगुप्ता | @ReshmiDG

तलवार दंपति बरी हो गए हैं. अब पुलिस को उन पर मुकदमा करने की जरूरत है जिन्होंने लापरवाही से जांच की और इस दंपति को बली का बकरा बनाया.

प्रशांत पी उमराव | @ippatel

पहली बार एक केस (आरुषि-हेमराज हत्याकांड) में एक पीआर (पब्लिक रिलेशन या जनसंपर्क) टीम ने कथानक पलट दिया. इसके लिए हर तरीके – फिल्म और किताब का सहारा लिया गया और आखिरकार फैसले को प्रभावित कर लिया गया.

दिल्ली का मालिक |‏ @ClueslessLad

सब लोग आरुषि की हत्या के मामले में फैसले की चर्चा कर रहे हैं जैसे कि हेमराज इंसान ही नहीं था. सभी तलवार दंपति की बात कर रहे हैं, हेमराज से संबंधित लोगों की किसी को खबर नहीं है.