अर्थव्यवस्था के खराब प्रदर्शन के चलते आलोचकों के हमले झेल रही मोदी सरकार को फिर से अच्छी खबरें मिलने लगी हैं. केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार सितंबर में देश का निर्यात 25.67 फीसदी की तेज वृद्धि के साथ 28.6 अरब डॉलर तक पहुंच गया. इससे देश का व्यापार घाटा पिछले सात महीनों में सबसे कम (नौ अरब डॉलर) रह गया. पिछले महीने आयात भी 18 फीसदी बढ़कर 37.6 अरब डॉलर हो गया.

शुक्रवार को जारी मंत्रालय के आंक​ड़ों के अनुसार देश से उत्पादों का निर्यात पिछले साल सितंबर से लगातार बढ़ रहा है. यानी यह लगातार तेरहवां महीना रहा जब निर्यात में वृद्धि हुई. सरकार के अनुसार पिछले महीने रसायन, पेट्रोलियम और इंजीनियरिंग उत्पादों के निर्यात में खासी तेजी दर्ज की गई. हालांकि सितंबर में हस्तशिल्प उत्पाद, लौह अयस्क और फल-सब्जियों के निर्यात में गिरावट दर्ज की गई है. सरकार ने यह भी बताया कि सितंबर में सोने के आयात में पांच फीसदी की कमी दर्ज हुई.

वहीं वित्त वर्ष 2017-18 की पहली छमाही (अप्रैल से सितंबर) में उत्पादों का निर्यात 11.5 फीसदी बढ़कर 147 अरब डॉलर हो गया, जबकि इस दौरान आयात करीब 25 फीसदी बढ़कर 219 अरब डॉलर हो गया. इस तरह पहली छमाही का व्यापार घाटा 72 अरब डॉलर का रहा.