‘भाजपा ने इस देश को चार महिला मुख्यमंत्री और चार महिला राज्यपाल दिए हैं.’

— सुषमा स्वराज, भारत की विदेश मंत्री

केंद्रीय मंत्री सुषमा स्वराज का यह बयान कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा भाजपा को महिला विरोधी बताए जाने के जवाब में आया. उन्होंने कहा, ‘मुझे 2014 में विदेश मंत्री बनाया गया, अब निर्मला सीतारमण रक्षा मंत्री हैं. चार सुरक्षा संबंधी कैबिनेट समितियों (सीसीएस) में से दो में महिलाएं शामिल हैं.’ सुषमा स्वराज ने आगे कहा कि भाजपा सरकार से पहले कभी सीसीएस में महिला सदस्य नहीं रही हैं. पिछले दिनों राहुल गांधी ने यह भी पूछा था कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ में कितनी महिलाएं हैं और कितनी महिलाएं पुरुषों की तरह शॉर्ट्स पहनकर शाखाओं में जाती हैं? इस पर सुषमा स्वराज ने कहा कि एक नेता को ऐसे शब्दों का इस्तेमाल करना शोभा नहीं देता.

‘चुनाव आयोग की सबसे बड़ी समस्या है कि यह बिना दांतों का शेर है.’

— वरुण गांधी, भाजपा के लोकसभा सांसद

भाजपा सांसद वरुण गांधी का यह बयान राजनीतिक सुधारों में चुनाव आयोग की भूमिका को लेकर आया. उन्होंने कहा, ‘चुनाव खत्म होने के बाद उसके (चुनाव आयोग) पास मामलों को दर्ज करने का अधिकार नहीं है, इसके लिए सुप्रीम कोर्ट जाना पड़ता है.’ नलसार यूनिवर्सिटी ऑफ लॉ में वरुण गांधी ने कहा, ‘संविधान का अनुच्छेद-324 कहता है कि चुनाव आयोग चुनाव का नियंत्रण और निगरानी करता है. लेकिन क्या वाकई ऐसा होता है?’ उन्होंने आगे कहा कि दल चुनावों में काफी पैसा खर्च करते हैं, जिससे साधारण लोग चुनाव नहीं लड़ पाते. वरुण गांधी का बयान ऐसे समय में आया है, जब हिमाचल प्रदेश के साथ गुजरात में विधानसभा चुनाव की तारीख घोषित न करने के लिए चुनाव आयोग को आलोचना का सामना करना पड़ रहा है.


‘केंद्र सरकार दिल्ली मेट्रो का किराया बढ़ोतरी की वजह जांचने की इजाजत नहीं दे रही है.’

— मनीष सिसोदिया, दिल्ली के उपमुख्यमंत्री

उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया का यह बयान दिल्ली मेट्रो की हालिया किराया बढ़ोतरी की वजहों पर संदेह जताते हुए आया. उन्होंने कहा कि दिल्ली मेट्रो अपने यात्रियों की संख्या का ब्यौरा नहीं दे रही है, आखिर उसे इसमें दिक्कत क्या है. शुरुआती रिपोर्टों के आधार पर उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली मेट्रो का किराया बढ़ने के बाद दिल्ली ट्रांसपोर्ट कार्पोरेशन (डीटीसी) के बसों में सफर करने वालों की संख्या 65 हजार बढ़ गई है. उन्होंने यह भी पूछा कि अगर मेट्रो दिल्ली के एक खास वर्ग के लिए है तो इस पर दिल्ली की आम जनता के टैक्स का करोड़ों रुपया खर्च करने का क्या मतलब है?


‘जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद अपने अंतिम दौर से गुजर रहा है.’

— जितेंद्र सिंह, प्रधानमंत्री कार्यालय राज्यमंत्री

केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह का यह बयान कश्मीर में आतंकियों के खिलाफ सफलता के लिए पुलिस और सुरक्षाबलों की सराहना करते हुए आया. उन्होंने कहा, ‘आज आतंकी जान बचाने के लिए भाग रहे हैं, उन पर जबरदस्त दबाव है.’ जितेंद्र सिंह ने आगे कहा, ‘इसमें सबसे प्रशंसनीय यह है कि जम्मू-कश्मीर के स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप सुरक्षाबलों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर काम कर रहे हैं.’ घाटी में सुरक्षा का माहौल बेहतर होने का दावा करते हुए उन्होंने यह भी कहा कि अब यहां आतंकियों की उम्र छोटी हो गई है. पाकिस्तान द्वारा आतंकियों की घुसपैठ कराने की कोशिशों पर केंद्रीय मंत्री का कहना था कि यह पाकिस्तान की हताशा जाहिर करता है.


‘ईरान किसी विदेशी ताकत के सामने न झुका है और न कभी झुकेगा.’

— हसन रूहानी, ईरान के राष्ट्रपति

ईरानी राष्ट्रपति हसन रूहानी का यह बयान अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा 2015 के ईरान परमाणु समझौते को प्रमाणित न करने के फैसले को लेकर आया. उन्होंने कहा, ‘ईरान और यह समझौता पहले से कहीं ज्यादा मजबूत है...इस्लामिक रिवोल्यूशनरी गार्ड्स क्षेत्रीय आतंकियों के खिलाफ अपना अभियान जारी रखेगा.’ हसन रूहानी ने आगे कहा, ‘उनका (डोनाल्ड ट्रंप) आज रात का भाषण बताता है कि यह समझौता उससे कहीं ज्यादा मजबूत है जैसा उन्होंने चुनाव प्रचार के दौरान सोचा था.’ परमाणु समझौते की शर्तों का सम्मान करने का वादा करते हुए ईरानी राष्ट्रपति हसन रूहानी का कहना था कि इस मामले में अमेरिका अकेला पड़ गया है.