‘ताज महल एक हिंदू मंदिर था, जिसे तेजो महालय कहा जाता था.’

— विनय कटियार, भाजपा के राज्यसभा सांसद

भाजपा सांसद विनय कटियार का यह बयान मुगल शासक शाहजहां पर शिव मंदिर को गिरवाकर ताज महल बनाने का आरोप लगाते हुए आया. उन्होंने कहा, ‘मुगलों ने हमारे देव स्थानों को तोड़ने का काम किया. ताज महल एक हिंदू मंदिर है, वहां देवी-देवताओं के चिह्न मौजूद हैं.’ विनय कटियार ने आगे कहा कि उनकी बातों का यह मतलब नहीं है कि ताजमहल को गिरा देना चाहिए. रविवार को मेरठ में सरधना से भाजपा विधायक संगीत सोम ने ताज महल को भारतीय संस्कृति पर धब्बा बताते हुए कहा था कि इस इमारत का निर्माण गद्दारों ने किया था.

‘(मोदी) सरकार के पास नवाचार (इनोवेशन) का महत्व समझने की दिमागी ताकत नहीं है.’

— सैम पित्रोदा, दूरसंचार अविष्कारक और कांग्रेस नेता

उद्यमी सैम पित्रोदा का यह बयान देश में नवाचारों को बढ़ावा देने की जरूरत बताते हुए आया. उन्होंने कहा, ‘सरकार, न्यायपालिका, शिक्षा, स्वास्थ्य और प्रक्रियाओं सभी जगहों पर नवाचार की जरूरत है. लेकिन भारत में हर तरफ राम मंदिर और इतिहास पर चर्चा होती है.’ सैम पित्रोदा ने आगे कहा कि भारत में लोगों को अतीत की तरफ झुकना पसंद है, जबकि जरूरत आगे बढ़ने की है. उन्होंने यह भी कहा कि राष्ट्रीय नवाचार परिषद बनाकर प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने इस दिशा में बड़ा कदम उठाया था, लेकिन मौजूदा सरकार ने इसे भंग कर दिया. सैम पित्रोदा के मुताबिक ज्यादा से ज्यादा रोजगार पैदा करने के लिए देश में नवाचारों को बढ़ावा देना जरूरी है.


‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को नोटबंदी को गलती मान लेना चाहिए.’

— कमल हासन, फिल्म अभिनेता

अभिनेता कमल हासन ने यह बात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नोटबंदी के फैसले का समर्थन करने के लिए माफी मांगते हुए कही. उन्होंने कहा कि गलतियां स्वीकार करना और उन्हें दूर करना एक महान नेता की निशानी है. कमल हासन ने आगे कहा, ‘शुरू में मुझे लगा कि लोगों को थोड़ी परेशानी सहनी चाहिए, क्योंकि इसका मकसद काला धन खत्म करना था. लेकिन बाद में लगा कि यह गलत था.’ नोटबंदी का समर्थन करते हुए कमल हासन ने ट्विटर पर लिखा था, ‘मोदी महोदय को मेरा सलाम. इसका सभी दलों को स्वागत करना चाहिए. सबसे ज्यादा ईमानदार करदाताओं को.’


‘परंपराएं भी पर्यावरण जितनी महत्वपूर्ण हैं, इसलिए हम दिये जलाएंगे और कुछ पटाखे भी फोड़ेंगे.’

— शिवराज सिंह चौहान, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का यह बयान सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) में पटाखों की बिक्री पर पाबंदी लगाने से जुड़े सवाल पर आया. उन्होंने कहा, ‘केवल पटाखों की वजह से प्रदूषण नहीं फैलता है.’ नौ अक्टूबर को सुप्रीम कोर्ट ने दिवाली पर दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण की समस्या को देखते हुए पटाखों की बिक्री पर पाबंदी लगा दी थी. सुप्रीम कोर्ट ने इसका मकसद दिवाली पर प्रदूषण स्तर में पटाखों के इस्तेमाल से पड़ने वाले असर का आकलन बताया था. हालांकि, कई लोगों ने इसे हिंदू विरोधी फैसला बताकर इस पर ऐतराज जताया है.


‘पाकिस्तान पर नजर रखने में भारत अमेरिका की मदद कर सकता है.’

— निक्की हेली, संयुक्त राष्ट्र में अमेरिकी राजदूत

अमेरिकी राजदूत निक्की हेली का यह बयान अफगानिस्तान के पुनर्निर्माण में भारत की भूमिका महत्वपूर्ण बताते हुए आया. उन्होंने कहा, ‘अमेरिका की कोशिश अफगानिस्तान और पूरे दक्षिण एशिया से आतंकवाद को खत्म करना है जो हमारे लिए खतरा है.’ निक्की हेली ने आगे कहा कि अमेरिका अपनी आर्थिक, राजनयिक और सैन्य ताकत का इस्तेमाल करेगा लेकिन आतंकियों तक परमाणु हथियार नहीं पहुंचने देगा. संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भारत की सदस्यता का समर्थन करते हुए अमेरिकी राजदूत का कहना था कि अगर स्थायी सदस्य अपनी वीटो शक्ति का इस्तेमाल न करें तो यह हो सकता है. सुरक्षा परिषद में अभी अमेरिका, रूस, चीन, फ्रांस और ब्रिटेन स्थायी सदस्य हैं, जबकि 10 अस्थायी सदस्यों को दो साल के लिए चुना जाता है.