सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली में ख़तरनाक हो चुके प्रदूषण को देखते हुए दिवाली पर पटाखों की बिक्री पर रोक लगा दी थी. बावजूद इसके गुरुवार रात को दिल्ली और उसके आसपास के इलाक़ों में पटाखे छुड़ाए गए. इसका नतीजा यह हुआ कि दिवाली की रात ही शहर में के वातावरण में धुएं का कोहरा छा गया. हालांकि पटाखों की आवाज़ और धुआं पिछले कुछ सालों की अपेक्षा कम रहा. केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) की रिपोर्ट के मुताबिक पिछले साल दिवाली की तुलना में इस साल दिल्ली में प्रदूषण का स्तर कम रहा है. गुरुवार को वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 319 रहा. यह बहुत ख़राब श्रेणी में आता है. लेकिन पिछले साल यह सूचकांक 431 था. सोशल मीडिया में इस मुद्दे पर आज खूब चर्चा हुई है और ट्विटर delhipollution एक ट्रेंडिंग टॉपिक बना रहा.

इस मुद्दे पर पत्रकार राहुल कंवल का ट्वीट है, ‘सुबह दिल्ली में प्रदूषण का स्तर सुरक्षित सीमा से 24 गुना ज्यादा रहा. ईश्वर हमारी मदद करे. लोगों के स्वास्थ्य के लिए यह आपातकाल की स्थिति है.’ दिल्ली में पिछले साल दिवाली के मुकाबले प्रदूषण का स्तर कम रहा है और इसके लिए यहां लोगों ने सुप्रीम कोर्ट का आभार जताते हुए भी प्रतिक्रियाएं दी है. वहीं इस पर सवाल उठाते हुए वरिष्ठ पत्रकार शेखर गुप्ता का ट्वीट है, ‘सुप्रीम कोर्ट की पाबंदी के चलते शोरगुल तो कम हुआ है लेकिन दिल्ली में सांस लेना फिर भी असंभव है. पटाखों पर प्रतिबंध जैसे लोक-लुभावन आइडिया से स्मॉग कम नहीं हो सकता. ऑड-ईवन जैसे खेल करने से भी नहीं.’

‎प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज केदारनाथ पहुंचे हैं. यहां उन्होंने भगवान केदारनाथ की पूजा-अर्चना की है और इसके बाद एक कार्यक्रम को संबोधित किया है. प्रधानमंत्री ने इस तीर्थ के विकास के लिए पांच योजनाओं की घोषणा की है और इसके लिए सोशल मीडिया के जरिए कई लोगों ने उनका आभार जताया है. मोदी के भाषण से जुड़ी कई बातों को भी लोगों ने यहां शेयर किया है. मोदी की इस यात्रा को राजनीति से जोड़ते हुए भी सोशल मीडिया पर कई टिप्पणियां आई हैं. फेसबुक पर एस शंकर रवि की टिप्पणी है, ‘योगी जी अयोध्या में हैं और मोदी जी केदारनाथ में. जनता जिन पर भरोसा कर रही है, वे खुद ही भगवान भरोसे हैं.’

इन दोनों खबरों पर सोशल मीडिया में आई कुछ और प्रतिक्रियाएं :

सायंतन घोष | @sayantansunnyg

सलमान – आज कुछ तूफानी करते हैं.
दिल्ली की जनता – चलो, घर से बाहर निकलते हैं फिर.

मोदीफाइड |‏ @TewariAlok

आज दिल्ली में हर कोई पॉल्यूशन मीटर लेकर पर्यावरणविद बना बैठा है. कल ये सारे लोग अपनी अपनी-अपनी एसयूवी में एसी चलाकर ऑफिस जाएंगे.

सागर |‏ @sagarcasm

दिल्ली में पटाखों की बिक्री पर पाबंदी को कुछ यूं समझा जा सकता है :

शकुनि मामा | @ShakuniUncle

मोदी जी को भी पता था दिवाली के बाद दिल्ली में खूब प्रदूषण होगा इसलिए आज वे केदारनाथ में थे.

साकेत दुबे | facebook/saket.dubey

केदारनाथ धाम में मोदी जी ने कहा कि मैं बाबा का बेटा हूं. तब से राहुल बाबा परेशान हैं कि मेरी तो शादी ही नहीं हुई तो फिर बेटा कब हो गया...

सौरभ वर्मा | facebook

नरेंद्र मोदी – केदारनाथ को मैंने चमकाया है.
आज तो भगवान केदारनाथ भी कन्फ्यूज हो गए होंगे कि ये विश्वकर्मा भगवान मोदी त्रेता युग में कैसे पैदा हो गए.

दीप्ति पांडे | facebook/dipti.pandey

योगी अयोध्या पहुंचे तो मोदी केदारनाथ पहुंच गए हैं. दोनों में यह साबित करने की होड़ मची है कि कौन बड़ा हिंदू है.