प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उत्तराखंड दौरे की खबर को आज के अधिकतर अखबारों ने पहले पन्ने पर जगह दी है. खबरों के मुताबिक उन्होंने साल 2013 में बाढ़ की त्रासदी के बाद केदारनाथ के पुनर्निर्माण को लेकर कांग्रेस पर निशाना साधा. प्रधानमंत्री ने कहा, ‘जब मैंने केदारनाथ के पुनर्निर्माण की शामिल होने की बात कही थी तो दिल्ली में तूफान आ गया था.’ उन्होंने आगे कहा, ‘जब दिल्ली को परेशानी हुई तो मैं पीछे हट गया. लेकिन बाबा ने तय किया था यह काम बेटे के हाथ से ही होगा.’ इसके अलावा अमेरिकी विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन का बयान भी अखबारों की प्रमुख सुर्खियों में शामिल है. टिलरसन ने वाशिंगटन में कहा कि अमेरिका अगले 100 साल तक भारत के साथ अपने दोस्ताना संबंध को बनाए रखना चाहता है.

रेलवे द्वारा खाने-पीने की चीजों पर यात्रियों से अधिक कीमत की वसूली

भारतीय रेलवे खाने-पीने की चीजों पर यात्रियों से अधिक कीमत की वसूली कर रहा है. अमर उजाला ने सूचना के अधिकार (आरटीआई) के तहत हासिल जानकारी के आधार पर कहा है कि इन चीजों पर ‘राउंडिंग ऑफ’ का फॉर्मूला लगा रेलवे पांच रु तक अधिक कीमत ले रहा है. इसके तहत यदि किसी यात्री का बिल पांच रुपये से 50 पैसे भी अधिक बनता है तो उनसे सीधे 10 रुपये लिए जा रहे हैं. रेलवे ने एक जुलाई, 2017 से यह व्यवस्था लागू की थी. बताया जाता है कि रेलवे में रोजाना 10 लाख यात्री कैटरिंग सेवा का इस्तेमाल करते हैं.

चीन के राष्ट्रपति शी जिंगपिंग के तख्तापलट की कोशिश की गई थी : सिक्योरिटी रेगुलेटरी कमीशन

चीन के सिक्योरिटी रेगुलेटरी कमीशन के प्रमुख लियू शियू ने एक सनसनीखेज खुलासा किया है. दैनिक जागरण की एक खबर के मुताबिक चीन के राष्ट्रपति शी जिंगपिंग के तख्तापलट की कोशिश की गई थी जिसे विफल कर दिया गया था. शियू ने ये बात कम्यूनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना (सीपीसी) की बैठक में कही. उन्होंने बताया कि इस साजिश में देश के बेहद कद्दावर नेता भी शामिल थे. उनका आगे कहना था कि इन लोगों को भ्रष्टाचार के खिलाफ चलाई जा रही मुहिम से परेशानी थी. बीते गुरुवार को सीपीसी के केंद्रीय अनुशासनात्मक आयोग के उप-सचिव यांग ने बताया था कि पार्टी के 440 वरिष्ठ और 43 उच्च अधिकारियों के खिलाफ जांच की जा रही है.

कश्मीर में अशांति से निपटने के लिए राजनीतिक समाधान की जरुरत : डीजीपी, जम्मू-कश्मीर

जम्मू-कश्मीर के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) शेश पॉल वैद ने घाटी में अशांति की स्थिति से निपटने के लिए राजनीतिक समाधान पर जोर दिया है. उन्होंने कहा कि पुलिस के अभियानों में आतंकी मारे जा रहे हैं लेकिन, कश्मीर को राजनीतिक पहल की जरुरत है.’ द इंडियन एक्सप्रेस के साथ बातचीत में उन्होंने यह भी कहा कि केंद्र सरकार को चाहिए कि वे बेरोजगार युवाओं को खतरनाक और बुरे लोगों के असर में आने से दूर रखें. वैद का आगे कहना था, ‘प्रमुख राजनीतिक पार्टियों के नेताओं को भारत के समर्थन में बोलने की जरूरत है और इससे जमीनी हालात में बदलाव होंगे. मुझे नहीं मालूम कि वे इस बारे में क्यों संकोच कर रहे हैं.’

कोयले की आपूर्ति में कमी के बीच रेल नीति को लेकर गैर बिजली क्षेत्र नाखुश

देश में मांग की तुलना में कोयले की आपूर्ति में कमी के बीच रेल नीति को लेकर गैर-बिजली क्षेत्र नाखुश दिख रहा है. बिजनेस स्टैंडर्ड की एक रिपोर्ट के मुताबिक इस वक्त बिजली की मांग पूरी करने के लिए अन्य उद्योगों के कोयला रैक (ट्रेन) भी बिजली संयंत्र को भेजे जा रहे हैं. इस बारे में एक अधिकारी ने अखबार को बताया कि रेलवे की इस नीति को लेकर सीमेंट, स्टील और लौह अयस्क उद्योग बुरे तरह प्रभावित हुए हैं. बताया जाता है कि गैर-बिजली क्षेत्र बीते एक महीने से कोयले की कमी से जूझ रहा है. स्टील उद्योग ने रेल मंत्रालय को ज्ञापन सौंप कर इस ओर ध्यान दिलाया है. फिलहाल केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल रेल के साथ-साथ कोयला मंत्रालय की भी जिम्मेदारी संभाल रहे हैं.

आज का कार्टून

दिल्ली-एनसीआर में दीवाली के बाद प्रदूषण पर द एशियन एज में प्रकाशित आज का कार्टून :