‘सरकार जम्मू-कश्मीर पर निरंतरता के साथ बातचीत की शुरुआत करेगी.’

— राजनाथ सिंह, केंद्रीय गृह मंत्री

केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह ने यह बात जम्मू-कश्मीर में वार्ता के लिए आईबी के पूर्व निदेशक दिनेश्वर शर्मा को केंद्र का प्रतिनिधि नियुक्त करने की घोषणा करते हुए आया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 15 अगस्त के भाषण का जिक्र करते हुए राजनाथ सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री का बयान जम्मू-कश्मीर पर केंद्र की नीति और इरादे को रेखांकित करता है. प्रधानमंत्री ने कहा था कि कश्मीर समस्या गाली या गोली से नहीं, बल्कि लोगों को गले लगाने से निपटेगी. वहीं, अलगाववादियों से बातचीत के सवाल राजनाथ सिंह ने कहा कि किन-किन लोगों से बात करनी है, इस बारे में दिनेश्वर शर्मा फैसला करेंगे.

‘जीएसटी असल में गब्बर सिंह टैक्स है.’

— राहुल गांधी, कांग्रेस के उपाध्यक्ष

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी का यह बयान वस्तु और सेवा कर (जीएसटी) के बहाने मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए आया. उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस जीएसटी लाना चाहती थी, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार ने गब्बर सिंह टैक्स लागू कर दिया.’ राहुल गांधी ने आगे कहा कि कैमरे से लेकर मोबाइल फोन तक सारी चीजें चीन में बनती हैं और भारत में जब भी कोई अपने मोबाइल फोन से सेल्फी लेता है तो चीन में एक युवा को रोजगार मिल जाता है. उनके मुताबिक रोजाना रोजगार की तलाश के लिए आने वाले 30 हजार युवाओं में से मोदी सरकार केवल 450 को ही रोजगार दे पाती है.


‘मौजूदा (केंद्र) सरकार सीबीआई की स्वतंत्रता और अखंडता को तोड़ने पर आमादा है.’

— प्रशांत भूषण, सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता

अधिवक्ता प्रशांत भूषण का यह बयान गुजरात कॉडर के आईपीएस अधिकारी राकेश अस्थाना को केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) में विशेष निदेशक नियुक्त करने पर आया. उन्होंने कहा कि राकेश अस्थाना की नियुक्ति पूरी तरह गलत है और इसे अदालत में चुनौती दी जाएगी. प्रशांत भूषण ने आगे कहा कि राकेश अस्थाना का नाम स्टर्लिंग बायोटेक की डायरी में है, जिसमें सीबीआई ने ही एफआईआर दर्ज की थी. स्टर्लिंग बायोटेक का मामला कंपनी द्वारा काला धन छिपाने के एवज में आयकर अधिकरियों को रिश्वत देने से जुड़ा है. इसमें आयकर विभाग की सिफारिश पर सीबीआई ने अगस्त में मामला दर्ज किया था.


‘चुनाव आयोग पर किसी तरह का कोई दबाव नहीं है.’

— अचल कुमार जोति, मुख्य चुनाव आयुक्त

मुख्य चुनाव आयुक्त अचल कुमार जोति ने यह बात गुजरात विधानसभा चुनाव की तारीख घोषित करने में देरी के पीछे केंद्र का दबाव होने के आरोपों को खारिज करते हुए कही. उन्होंने कहा, ‘विपक्ष तभी सवाल कर सकता है जब चुनाव आयोग उन्हें प्रचार करने से रोके.’ अचल कुमार जोति ने आगे कहा कि चुनाव से पहले सभी वादे कर रहे हैं, विपक्ष भी वादे कर रहा है, किसी को भी चुनाव आयोग नहीं रोक रहा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैलियों के सवाल पर उनका कहना था कि कल प्रधाननंत्री गुजरात गए थे, आज राहुल गांधी गए हैं, चुनाव आयोग किसी पार्टी को खास तवज्जो नहीं दे रहा.


‘जोड़ी नंबर-1, दोस्त नंबर-1, आंटी नंबर-1 फिल्मों की तरह कांग्रेस ड्रामेबाज पार्टी नंबर-1 है.’

— रविशंकर प्रसाद, केंद्रीय कानून मंत्री और भाजपा नेता

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद का यह बयान कांग्रेस द्वारा गुजरात में ओबीसी नेता कल्पेश ठाकोर को पार्टी में शामिल करने के फैसले को नाटक बताते हुए आया. कल्पेश ठाकोर को कांग्रेस का पुराना कार्यकर्ता बताते हुए उन्होंने कहा, ‘राहुल गांधी आपकी पार्टी लगातार हारने से क्या इतनी हताश हो गई है कि आपको अपनी प्रासंगिकता बनाए रखने के लिए ऐसी तिकड़मबाजी करनी पड़ रही है?’ रविशंकर प्रसाद ने आगे कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष बनने जा रहे राहुल गांधी को अर्थव्यवस्था और विकास के गंभीर पहलुओं की जानकारी नहीं है. उनका यह भी कहना था कि राहुल गांधी का भाषण लिखने वाले अपना काम सही से नहीं कर रहे.


‘म्यांमार से रोहिंग्या का विस्थापन 1994 में रवांडा के नरसंहार के बाद किसी एक देश से होने वाला सबसे बड़ा पलायन है.’

— शमीम अहसन, संयुक्त राष्ट्र में बांग्लादेश के राजदूत

राजदूत शमीम अहसन का यह बयान म्यांमार से रोहिंग्या मुसलमानों का बांग्लादेश पलायन पर आया. 25 अगस्त से अब तक तकरीबन छह लाख रोहिंग्या शरणार्थी बांग्लादेश पहुंच चुके हैं. राजदूत शमीम अहसन ने कहा, ‘म्यांमार सरकार के वादे के विपरीत रखाइन राज्य में हिंसा नहीं रुकी है और रोजाना हजारों शरणार्थी बांग्लादेश पहुंच रहे हैं.’ उन्होंने आगे कहा कि म्यांमार लगातार रोहिंग्या मुसलमानों को बांग्लादेश के अवैध प्रवासी बताने का दुष्प्रचार कर रहा है. बांग्लादेश के राजदूत के मुताबिक म्यांमार द्वारा रोहिंग्या मुसलमानों की जातीय पहचान खारिज करने की वजह से उन्हें दर-दर भटकना पड़ रहा है.