जो ब्रांडेड बिस्किट बाज़ार में उपलब्ध हैं उनकी मिठास इंसानी सेहत के लिए कड़वी साबित हो सकती है. ऐसा अभी हाल में ही एक जांच के दौरान सामने आया है. डेक्कन क्रॉनिकल ने इससे संबंधित ख़बर दी है.

ख़बर के मुताबिक कंज़्यूमर एजुकेशन एंड रिसर्च सेटर (सीईआरसी) की टीम ने अभी हाल में ही हैदराबाद में छह नामी कंपनियाें के बिस्किट्स के नमूने लिए. इनकी जांच में पाया गया कि इनमें शक्कर की मात्रा तय मानक से काफी ज़्यादा है. ख़ास तौर पर क्रीम बिस्किट में. सिर्फ शक्कर ही नहीं वसा (फैट) की मात्रा भी निर्धारित सीमा से ज़्यादा पाई गई है. यह रिपोर्ट एफएसएसएआई (भारतीय खाद्य सुरक्षा एवं मानक प्राधिकरण) को भेजी गई है.

रिपोर्ट की मानें तो कई क्रीम बिस्किट्स में तो 100 ग्राम पर 33.3 ग्राम तक शक्कर की मात्रा पाई गई. कुछेक में यह 25 ग्राम के आसपास मिली. यही स्थिति वसा की मात्रा के मामले में भी रही. जबकि विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने इन दोनाें ही चीजों की मात्रा 100 ग्राम पर 20-20 ग्राम तय कर रखी है.

सीईआरसी से जुड़ीं प्रीती शाह के मुताबिक, ‘डब्ल्यूएचओ एक व्यक्ति के लिए दिनभर में सिर्फ 25 ग्राम शक्कर लेने की ही अनुशंसा करता है. लेकिन अगर आप रोज बिस्किट खाते हैं तो इसका साफ मतलब है कि इस निर्धारित सीमा से कहीं ज़्यादा शक्कर आपके शरीर में जा रही है. जो आपके स्वास्थ्य को भी नुकसान पहुंचा रही है.’