अमेरिकी वाहन निर्माता कंपनी फोर्ड ने लंबे इंतजार के बाद भारत में अपनी लोकप्रिय कॉम्पैक एसयूवी इकोस्पोर्ट के नए अवतार से पर्दा हटा दिया है. कंपनी ने नई इकोस्पोर्ट को फीचर्स और लुक्स के मामले में पहले से ज्यादा बेहतर और प्रीमियम बनाने की कोशिश की है. इकोस्पोर्ट सबसे पहले 2013 में बाजार में उतारी गई थी और तभी से इस कार को बाजार से शानदार प्रतिक्रिया मिल रही थी. फोर्ड का कहना है कि इकोस्पोर्ट फेसलिफ्ट को बाजार में अगले महीने की शुरुआत में उतारा जाएगा.

पहली नजर में देखने पर नई इकोस्पोर्ट काफी हद तक अपने पुराने वर्जन से ही मिलती-जुलती नजर आती है. लेकिन कार के फ्रंट में लगी सिंगल हॉरिजोंटल हैक्सागोनल ग्रिल और नए शार्प लुकिंग हैडलैंप्स के साथ दिए गए नई डिजाइन के फ्रंट बंपर और फॉग लैंप इसे फ्रेश अपील देते हैं. इसके अलावा कंपनी ने नए अलॉय पैटर्न के साथ इकोस्पोर्ट फेसलिफ्ट में 16 इंच की जगह 17 इंच के व्हील्स लगाए गए हैं जो इसके लुक को पहले से ज्यादा हैवी बनाते हैं.

यदि एक नजर इकोस्पोर्ट के केबिन में डालें तो इसकी बेसिक डिजायन के मामले में फोर्ड ने बॉडी कलर के अलावा कुछ अहम बदलाव नहीं किए हैं. लेकिन यहां आपको बिल्कुल नया 8-इंच का इन्फोटेनमेंट सिस्टम देखने को मिल सकता है. हालांकि यह स्क्रीन इकोस्पोर्ट के केवल टॉप और सेकंड टॉप मॉडल में ही देखने को मिलेगा. इकोस्पोर्ट फेसलिफ्ट के बाकी के मॉडल में कंपनी ने 6.5 इंच की स्क्रीन दी है जो अपने आप में ठीक-ठाक साइज है. इसके अलावा कंपनी ने कार में मोबाइल नेविगेशन और सिंक-3 (SYNC) के साथ एपल कार प्ले और एंड्रॉइड ऑटो जैसे फीचर्स भी एड किए हैं. कार की स्क्रीन के नीचे क्लाइमेट कंट्रोल सिस्टम दिया गया है जो दो रोटरी नॉब्स के साथ आता है. नई इकोस्पोर्ट के साथ नया स्टीयरिंग व्हील मिलेगा और यह भी इसकी डिजाइन को एक ताजगी देता है.

सुरक्षा के लिहाज से देखा जाए तो इकोस्पोर्ट फेसलिफ्ट को फोर्ड ने पहले से ज्यादा बेहतर बनाया है. इसमें कंपनी ने 6 एयरबैग्स दिए हैं जो इसे सेफ्टी के मामले में अपनी प्रतिद्वंदियों से कहीं आगे खड़ा करते हैं. साथ ही दुर्घटना की स्थिति में कार में लगा इमरजेंसी असिस्ट सिस्टम अपने आप इमरजेंसी सर्विस को कॉल कर देता है. कंपनी ने इस कार में एबीएस फीचर को स्टैंडर्ड रखा है.

यदि इकोस्पोर्ट के अपडेटेड वर्जन में सबसे बड़े बदलाव की बात करें तो यह इसके इंजन में देखने को मिला है. इकोस्पोर्ट फोर्ड की पहली कार है जिसे कंपनी ने 1.5 लीटर क्षमता वाले अपने नए इंजन से लैस किया है. तीन सिलेंडर वाले इस इंजन को कंपनी ने अपनी ड्रैगन सीरीज के तहत तैयार किया है. जानकारों के मुताबिक यह इंजन 123 पीएस की अधिकतम पावर के साथ 150 एनएम का टॉर्क उत्पन्न करने में सक्षम है. तकनीकी खूबियों के चलते माना जा रहा है कि यह इंजन पहले से आकर्षक माइलेज देगा.

इकोस्पोर्ट फेसलिफ्ट में डुअल क्लच ऑटो से लैस 5-स्पीड मैनुअल और 6-स्पीड ऑटोमैटिक ट्रांसमिशन दिए गए हैं. कार के ऑटोमैटिक वेरिएंट में हिल लॉन्च असिस्ट, ट्रेक्शन कंट्रोल और क्रूज कंट्रोल जैसे फीचर्स दिए गए हैं. माना जा रहा है कि लॉन्च होने के बाद यह कार इसी साल लॉन्च हुई टाटा नेक्सन और होंडा डब्ल्यूआर-वी को कड़ी टक्कर दे सकती है.