उत्तर प्रदेश में रायबरेली जिले के ऊंचाहार स्थित एनटीपीसी प्लांट में हादसे से मरने वालों की संख्या 26 पहुंच गई है. उत्तर प्रदेश के प्रधान सचिव (गृह) अरविंद कुमार ने यह जानकारी दी है. बुधवार को प्लांट का बॉयलर पाइप के फटने से यह हादसा हुआ था. इसमें 14 लोगों की मौके पर मौत हो गई थी, जबकि सौ से ज्यादा लोग झुलस गए थे. घटना की जांच के आदेश दे दिए गए हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस घटना पर दुख जताया है. उन्होंने सभी मृतकों के परिजनों को दो-दो लाख रुपये और घायलों को 50-50 हजार रुपये की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की है. उत्तर प्रदेश सरकार ने भी मृतकों के परिजनों को दो-दो लाख रुपये और घायलों को 50-50 हजार रुपये की आर्थिक मदद देने की घोषणा की है.

ऊंचाहार के स्थानीय लोगों के अनुसार यह हादसा शाम चार बजे के आसपास एनटीपीसी की 500 मेगावाट की छठी यूनिट में हुआ. बताया जाता है कि इस हादसे के वक्त यूनिट और उसके आसपास करीब 200 मजदूर काम कर रहे थे. प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक बॉयलर में विस्फोट होने के साथ वहां पर भीषण आग लग गई. सब कुछ इतना तेजी से हुआ कि किसी को भी संभलने का मौका ही नहीं मिला.

रायबरेली कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी का संसदीय क्षेत्र है. उन्होंने भी इस घटना पर शोक जताया है. इस बीच गुजरात में नवसृजन यात्रा बीच में छोड़ कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी रायबरेली पहुंचे और पीड़ितों से मुलाकात कर उनका हाल-चाल पूछा. खबरों के मुताबिक उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा भी रायबरेली जाने वाले हैं.