‘गुजरात में पाटीदार समुदाय ही हार्दिक पटेल के एजेंडे पर सवाल उठा रहा है.’

— जितेंद्र सिंह, प्रधानमंत्री कार्यालय राज्यमंत्री

केंद्रीय मंत्री जितेंद्र कुमार का यह बयान पाटीदार समुदाय के लिए आरक्षण की मांग कर रहे नेता हार्दिक पटेल पर निशाना साधते हुए आया. उन्होंने कहा, ‘पूरा पाटीदार समुदाय जानता है कि भाजपा में ही उसका भविष्य सुरक्षित है.’ जितेंद्र सिंह ने आगे कहा कि कांग्रेस ने अभी तक भ्रम बनाए रखा है और पाटीदार आरक्षण पर अपना रुख स्पष्ट नहीं किया है. उन्होंने यह भी कहा कि गुजरात में पाटीदार समुदाय भाजपा के पक्ष में ही मतदान करेगा. हार्दिक पटेल ने अपने समुदाय से गुजरात विधानसभा चुनाव में भाजपा के खिलाफ मतदान करने की अपील की है.

‘गुजरात विधानसभा चुनाव में सच और झूठ के बीच मुकाबला है.’

— राहुल गांधी, कांग्रेस उपाध्यक्ष

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी का यह बयान गुजरात विधानसभा चुनाव में अपनी पार्टी को सच का प्रतिनिधि बताते हुए आया. उन्होंने कहा, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पास पुलिस और सेना के साथ-साथ केंद्र और अन्य राज्यों में सरकारें हैं. इसके बावजूद गुजरात में कांग्रेस चुनाव जीतने जा रही है, क्योंकि सच्चाई उसके साथ है.’ राहुल गांधी ने आगे कहा कि युवाओं की बेरोजगारी, किसानों की बेबसी, महंगी शिक्षा, खर्चीला इलाज, पाटीदारों पर गोली, ऊना में दलितों पर लाठी, आदिवासियों की भुखमरी और भ्रष्टाचार गुजरात की मौजूदा हकीकत है. उन्होंने यह भी कहा कि भाजपा की हकीकत पांच बड़े उद्योगपति हैं जो गुजरात के लोगों के पैसे, बिजली, पानी और संसाधनों का दोहन कर रहे हैं.

‘भारत में हिंदू आतंकवाद मौजूद है.’

— दिनेश गुंडूराव, कर्नाटक में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता

कांग्रेस नेता दिनेश गुंडूराव का यह बयान हिंदू चरमपंथ को लेकर अभिनेता कमल हासन की टिप्पणी का समर्थन करते हुए आया. उन्होंने कहा, ‘जिसने महात्मा गांधी को मारा वह हिंदू आतंकवादी था. दलितों को मारने-पीटने वाले गौरक्षक हिंदू आतंकवादी ही हैं.’ दिनेश गुंडुराव ने आगे कहा कि देश में कुछ लोग आतंक फैलाने और कानून को हाथ में लेने का काम कर रहे हैं. उनके मुताबिक देश में मौजूद कट्टरपंथी सोच से भागने के बजाए मुकाबला करने की जरूरत है. इससे पहले अभिनेता कमल हासन ने कहा था कि पहले दक्षिणपंथी समूह के लोग हिंसा नहीं करते थे, बल्कि अपने विरोधियों के साथ बात करते थे, लेकिन अब ऐसा नहीं है, लोग इसकी जगह ताकत का इस्तेमाल करते हैं.


‘स्पॉट फिक्सिंग के अन्य आरोपित अलग-अलग देशों में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेल रहे हैं.’

— एस श्रीसंत, क्रिकेट खिलाड़ी

क्रिकेट खिलाड़ी एस श्रीसंत का यह बयान बीसीसीआई पर भेदभाव करने का आरोप लगाते हुए आया. उन्होंने कहा, ‘मेरी ही तरह 13 आरोपित थे लेकिन बीसीसीआई ने कहा कि उनके नाम न बताए जाएं, क्योंकि इससे भारतीय क्रिकेट प्रभावित होगा.’ एस श्रीसंत ने आगे कहा कि वे इन खिलाड़ियों के बारे में बीसीसीआई की राय जानना चाहते हैं. उन्होंने यह भी कहा कि वे स्पॉट फिक्सिंग मामले के अन्य आरोपित खिलाड़ियों के नाम नहीं बताएंगे, क्योंकि उन्हें भी उनकी जैसी मुश्किलों का सामना करना पड़ेगा. स्पॉट फिक्सिंग मामले में बीसीसीआई ने श्रीसंत पर आजीवन प्रतिबंध लगा दिया था, जिसे केरल हाई कोर्ट ने भी बहाल रखा है.


‘म्यांमार पर अंतरराष्ट्रीय पाबंदी का बहुत बुरा असर पड़ेगा.’

— जाव हत्ये, म्यांमार की स्टेट काउंसलर आंग सान सू की के प्रवक्ता

प्रवक्ता जाव हत्ये का यह बयान म्यांमार में रोहिंग्या मुसलमानों के उत्पीड़न को लेकर उसकी सेना पर प्रतिबंध लगाने के अमेरिकी प्रस्ताव पर आया. उन्होंने कहा, ‘अर्थव्यवस्था को सुधारने के लिए म्यांमार में आंतरिक स्थिरता की जरूरत है. अगर अंतरराष्ट्रीय प्रतिबंध लगता है तो इससे लोगों की आवाजाही और निवेश प्रभावित होगा.’ जाव हत्ये ने आगे कहा कि 15 नवंबर को अमेरिकी विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन के म्यांमार दौरे के समय उन्हें रखाइन राज्य में सरकार के प्रयासों की जानकारी दी जाएगी. उनका यह भी कहना था कि म्यांमार न तो अमेरिका को पाबंदी लगाने से रोक सकता है और न ही उसे अमेरिकी नीति की जानकारी है.