‘हज सब्सिडी को 2018 तक पूरी तरह खत्म कर दिया जाएगा.’

— मुख्तार अब्बास नकवी, अल्पसंख्यक मामलों के केंद्रीय मंत्री

केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी का यह बयान मोदी सरकार की हज सब्सिडी खत्म करने के फैसले को लेकर आया. उन्होंने कहा, ‘हज सब्सिडी को 2012 से ही घटाया जा रहा है.’ मुख्तार अब्बास नकवी ने बताया कि सुप्रीम कोर्ट के निर्देश को ध्यान में रखकर यह कदम उठाया जा रहा है. उन्होंने यह भी कहा कि सरकार हज सब्सिडी से बचने वाले पैसे को अल्पसंख्यकों, खास तौर पर लड़कियों के शिक्षा कार्यक्रम पर खर्च करना चाहती है. केंद्रीय मंत्री के मुताबिक सरकार हज जाने की व्यवस्था को खुली और पारदर्शी बनाने के अलावा यात्रियों की सुरक्षा को पुख्ता बनाने के लिए प्रतिबद्ध है.

‘हिमाचल प्रदेश में एक भी पोलिंग बूथ ऐसा नहीं होना चाहिए जहां कांग्रेस रूपी दीमक बचा रहे.’

— नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का यह बयान भ्रष्टाचार को लेकर कांग्रेस पर निशाना साधते हुए आया. उन्होंने कहा कि एक समय था जब अखबारों के पूरा पेज 2जी घोटाले और भ्रष्टाचार की खबरों से भरा होता था. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आगे कहा, ‘ईमानदारी के नाम पर देश की जनता अगले 100 साल तक कांग्रेस पर विश्वास नहीं करेगी.’ उन्होंने यह भी कहा कि कांग्रेस को अपने कर्मों का फल मिल रहा है, अगर आज लोग उससे नाराज हैं तो इसके लिए वह खुद जिम्मेदार है. भाजपा को दो-तिहाई बहुमत से जिताने की अपील करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि विकास ही सपनों को पूरा कर सकता है, वही बच्चों को प्रगति के रास्ते पर ले जा सकता है.


‘कांग्रेस का गुजरात को जाति के आधार पर बांटने का कदम खतरनाक और आत्मघाती है.’

— अरुण जेटली, केंद्रीय वित्त मंत्री

केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली का यह बयान गुजरात में कांग्रेस पर जातिवादी और देशविरोधी राजनीति करने का आरोप लगाते हुए आया. उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस के इतिहास को देखें तो पता चल जाएगा कि उसने पिछले तीन चुनाव एक व्यक्ति (नरेंद्र मोदी) और एक राज्य (गुजरात) के खिलाफ लड़े हैं.’ अरुण जेटली ने आगे कहा कि 2002 के बाद से गुजरात का चुनाव भाजपा बनाम शेष दलों का रहा है और पार्टी को अब इस अलगाव की आदत हो गई है. कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा वस्तु और सेवा कर (जीएसटी) को ‘गब्बर सिंह टैक्स’ बताने पर केंद्रीय मंत्री का कहना था कि उन्हें जीएसटी के बारे में कोई जानकारी नहीं है.


‘अगर उन्हें (श्रीसंत) बीसीसीआई के पक्षपाती होने का शक है तो इसकी वजह भी बतानी चाहिए.’

— कपिल देव, पूर्व क्रिकेट खिलाड़ी

पूर्व क्रिकेट खिलाड़ी कपिल देव का यह बयान मैच फिक्सिंग के मामले में आजीवन प्रतिबंध झेल रहे एस श्रीसंत के आरोपों पर आया. एस श्रीसंत ने बीसीसीआई पर मैच फिक्सिंग मामले में कार्रवाई करते समय पक्षपात करने का आरोप लगाया है. श्रीसंत ने यह भी कहा है कि मैच फिक्सिंग के कई आरोपित आज अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेल रहे हैं. इस पर कपिल देव ने कहा, ‘यह श्रीसंत की निजी राय है, मैं इस पर ज्यादा कुछ नहीं कह सकता.’ भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान कपिल देव का यह भी कहना था कि सभी लोग देश के लिए खेलना चाहते हैं, लेकिन अंत में केवल 11 खिलाड़ियों को ही मैदान में उतरने का मौका मिल पाता है.


‘भारत 2047 तक उच्च मध्यम आय वाली अर्थव्यवस्था बन जाएगा.’

— क्रिस्टेलीना जार्जीवा, विश्व बैंक की मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ)

विश्व बैंक की सीईओ क्रिस्टेलीना जार्जीवा का यह बयान मोदी सरकार के आर्थिक सुधारों की प्रशंसा करते हुए आया. भारत की ईज ऑफ डूइंग बिजनेस रैंकिंग में सुधार को लेकर उन्होंने कहा, ‘भारत ने उल्लेखनीय सफलता दर्ज की है. ऐसा उछाल बहुत दुर्लभ है, खास तौर पर भारत जैसे बड़ी आबादी वाले देश में.’ क्रिस्टेलीना जार्जीवा ने आगे कहा कि इस रफ्तार को बनाए रखने के लिए भारत को भविष्य में और आर्थिक सुधार करने होंगे. गरीबी उन्मूलन को लेकर उनका कहना था कि इसके लिए 2026 की समय सीमा तय है, लेेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 2022 में ही इसे हासिल चाहते हैं जो अब तक के प्रदर्शन को देखकर असंभव नहीं लगता है.