अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने दक्षिण कोरिया में नेशनल असेंबली को संबोधित करते हुए उत्तर कोरिया को सीधी चेतावनी दी है. समाचार एजेंसी रॉयटर्स के अनुसार उत्तर कोरिया की तरफ से अमेरिका और उसके सहयोगियों को निशाना बनाने के खतरे पर उन्होंने कहा, ‘अमेरिकी प्रशासन को पहले जैसा समझना बड़ी भूल होगी. अब वहां पहले से अलग प्रशासन है. हमें कम करके न आंकें. हमें अाजमाने की भी कोशिश न करें.’

अमेरिकी राष्ट्रपति ने उत्तर कोरिया के तानाशाह शासक किम जोंग-उन से अपना परमाणु हथियार कार्यक्रम बंद करने की भी अपील की. उन्होंने कहा कि इस अंधेरे रास्ते पर हर कदम के साथ उत्तर कोरिया के लिए जोखिम बढ़ता जाएगा. डोनाल्ड ट्रंप ने परमाणु हथियार कार्यक्रम बंद करने पर उत्तर कोरिया की मदद करने का भी प्रस्ताव रखा. उन्होंने यह भी कहा, ‘हम न तो डरेंगे और न ही इतिहास के भीषण अत्याचारों को यहां दोहराने देंगे. इसी आधार पर हम अपनी सुरक्षा के लिए संघर्ष करेंगे.’

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने रूस और चीन से भी उत्तर कोरिया का समर्थन न करने की अपील की. उन्होंने कहा, ‘हम जितना इंतजार करेंगे, खतरा उतना ज्यादा बढ़ता जाएगा और विकल्प कम होते जाएंगे. जो देश इसे नजरअंदाज कर रहे हैं या इसे रोकने के लिए सही से प्रयास नहीं कर रहे हैं, उन्हें भी इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा.’ राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पांच देशों की अपनी पहली एशिया यात्रा के दौरान जापान के बाद दक्षिण कोरिया पहुंचे थे. जहां से वे चीन के लिए रवाना हो गए.