महिला और पुरुष खिलाड़ियों के अंतरराष्ट्रीय स्तर पर लगातार दमदार प्रदर्शन के बीच इस बार का सीनियर राष्ट्रीय चैपिंयनशिप काफी दिलचस्प रहा. इसका कारण लोगों की उत्सुकता थी कि आखिर साइना नेहवाल और पीवी सिंधु में बेहतर कौन है. एचएस प्रणय और किदांबी श्रीकांत के मामले में भी यही बात लोगों को इस टूर्नामेंट की ओर खींच रही थी. बहरहाल बुधवार को नागपुर में इसका फैसला हो गया. महिलाओं के मुकाबले में साइना नेहवाल जहां पीवी सिंधु पर बीस साबित हुईं. वहीं पुरुष वर्ग में एचएस प्रणय अनुमानों के विपरीत किदांबी श्रीकांत को हराने में कामयाब हुए.

साइना नेहवाल ने पीवी सिंधु को लगभग एक घंटा चले फाइनल मुकाबले में सीधे गेमों में 21-17, 27-25 से हरा दिया. पहले गेम में हालांकि साइना का प्रदर्शन सिंधु की तुलना में काफी बेहतर रहा, लेकिन दूसरे गेम में सिंधु ने अपना स्तर सुधारा और अपनी प्रतिद्वंद्वी को जबरदस्त टक्कर दी. पर बाजी अंत में साइना के हाथ लगी. साइना नेहवाल का यह तीसरा सीनियर राष्ट्रीय खिताब है. वे दस साल बाद इस टूर्नामेंट में खेल रही थीं. जानकार साइना के लिए इस जीत को काफी अहम मान रहे हैं, क्योंकि पिछले दो साल से चोटों के चलते वह ज्यादा बैडमिंटन नहीं खेल सकीं. वहीं इस दौरान पीवी सिंधु ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर काफी दमदार खेल दिखाया है.

इससे पहले पुरुषों के फाइनल मुकाबले में दुनिया में 11वीं रैंक प्राप्त एचएस प्रणय ने विश्व के नंबर दो और देश के नंबर एक पुरुष खिलाड़ी किदांबी श्रीकांत को पटखनी दे दी. तीन गेमों तक चले इस मुकाबले को प्रणय ने 21-15, 16-21, 21-07 से जीतकर अपना पहला सीनियर राष्ट्रीय खिताब जीता.