महाराष्ट्र में किसानों के लिए आयोजित एक कार्यक्रम में परोसे गए संदिग्ध विषैले भोजन से एक किसान की मौत हो गई. यह कार्यक्रम नासिक ज़िले में बीज और कीटनाशक बनाने वाली चर्चित कंपनी बायर सीड्स ने किसानों को हाइब्रिड टमाटरों के बारे में जानकारी देने के लिए किया था. इंडियन एक्सप्रेस की ख़बर के मुताबिक़ 200 किसानों ने कार्यक्रम में हिस्सा लिया था. यहां उन्हें कंपनी की तरफ़ से दोपहर का खाना परोसा गया. खाना खाने के बाद किसानों ने तकलीफ़ और उलटी की शिकायत की. इसके बाद सभी को अस्पताल में भर्ती कराया गया. इनमें अतुल केदार (41) नाम के किसान को उमराले गांव के अस्पताल से नासिक ज़िला अस्पताल में भेजा गया था. गुरुवार को उसकी मौत हो गई.

ज़िला अस्पताल की तरफ़ से बताया गया कि 50 मरीज़ों को इलाज के बाद छुट्टी दे दी गई है. बाक़ी 25 किसानों को शुक्रवार तक छुट्टी मिल जाएगी. अस्पताल के डॉ. सुरेश जगदाले ने बताया, ‘दुर्भाग्यवश एक मरीज़ की मौत हो गई. हम इसके कारणों का पता लगा रहे हैं. उसके बाद ही कोई टिप्पणी कर सकते हैं.’

पुलिस ने खाना मुहैया कराने वाले ठेकेदार, रसोइये और बायर सीड्स के क्षेत्रीय प्रबंधक सुनील मुले और अन्य अधिकारियों पर ग़ैर-इरादतन हत्या का मामला दर्ज कर लिया है. उधर, कंपनी ने जांच में सहयोग देने की बात कही है. उसका कहना है कि किसानों के अलावा उसके छह कर्मचारियों ने भी सेहत बिगड़ने की शिकायत की थी.

हाल के समय में महाराष्ट्र में खेती में कीटनाशकों के इस्तेमाल की सही जानकारी नहीं होने के चलते कई लोगों की मौतें हुई हैं. कई सामाजिक कार्यकर्ताओं और किसान समूहों ने कीटनाशक बनाने वाली कंपनियों की आलोचना की है. उनका कहना है कि कंपनियां किसानों को कीटनाशकों के बारे में पर्याप्त जागरूकता के साथ नहीं बतातीं.