प्रधानमंत्री की आर्थिक सलाहकार परिषद (ईएसी-पीएम) ने अपनी दूसरी बैठक में शुक्रवार को रोजगार सृजन और कौशल विकास को बढ़ावा देने वाले रोडमैप का खाका पेश किया है. परिषद ने शिक्षा और स्वास्थ्य जैसे सामाजिक क्षेत्रों में निवेश बढ़ाने पर भी जोर देने की सिफारिश की है. इसके अलावा उसने आर्थिक विकास के संकेतकों को सामाजिक विकास के संकेतकों से जोड़ने की सिफारिश की है. यह बैठक ईएसी के अध्यक्ष बिबेक देबरॉय की अध्यक्षता में हुई.

बैठक के बाद इस बारे में जारी अपने बयान में परिषद ने बताया, ‘ईएसी आर्थिक और सामाजिक क्षेत्रों में होने वाले विकास को जानने के लिए एक नया इकोनॉमी ट्रैकिंग मॉनीटर विकसित कर रहा है. इससे समाज के अंतिम छोर तक आर्थिक विकास के पड़ने वाले असर को परखा जाएगा.’ ईएसी ने केंद्र सरकार से उन राज्यों को आर्थिक प्रोत्साहन देने की सिफारिश भी की है जिनका शिक्षा और स्वास्थ्य जैसे सामाजिक क्षेत्रों में शानदार प्रदर्शन रहा है.