राजस्थान के शिक्षा विभाग की एक मासिक पत्रिका में महिलाअों और पुरुषों को चुस्त-तंदुरुस्त रहने के नुस्खे बताए गए हैं. इन्हीं में महिलाओं के लिए कुछ नुस्खे यूं हैं कि वे चक्की पीसें, बिलौना बिलाएं, झाड़ू-पोंछा आदि करें.

हिंदुस्तान टाइम्स के मुताबिक पत्रिका का नाम ‘शिविरा’ है. यह स्कूल शिक्षकों के लिए निकाली जा रही है. आम तौर पर इसमें शिक्षा के विषय पर कुछ निबंध, महान व्यक्तियों के प्रसंग और सामान्य रुचि के मसलों पर आलेख आदि होते हैं. इन्हीं के तहत इस बार स्वस्थ रहने के सरल उपाय बताए गए हैं. कुल 52 पेज की पत्रिका के पृष्ठ क्रमांक-32 पर 14 उपायों का जिक्र है. इन्हीं में वे भी हैं जिनका ऊपर उल्लेख किया गया है.

हालांकि पत्रिका में महिलाओं की दी गई सलाह पर विवाद हो गया है. इस सिलसिले में पीपुल्स यूनियन फॉर सिविल लिबर्टी की राष्ट्रीय सचिव कविता श्रीवास्तव कहती हैं, ‘यह बेहद शर्मनाक है. जिन घिसे-पिटे तौर-तरीकों से शिक्षा के जरिए छुटकारा दिलाने की कोशिश होती है शिक्षा विभाग उन्हीं को मजबूत करने में लगा हुआ है.’ पत्रिका के प्रधान संपादक और माध्यमिक शिक्षा निदेशक नथमल डिडेल भी कहते हैं, ‘घरेलू कामकाज को खास महिलाओं के लिए व्यायाम की तरह नहीं बताया जाना चाहिए.लेकिन शायद लेखक अपने आस-पास हो रही चीजों से प्रभावित रहे हों इसलिए वह ऐसा लिख गए. अलबत्ता इसके पीछे महिलाअों से भेदभाव का कोई इरादा नहीं है. यह मैं भरोसा दिलाता हूं.’