वस्तु और सेवा कर (जीएसटी) काउंसिल द्वारा आम इस्तेमाल की 177 वस्तुओं पर जीएसटी में कटौती पर कांग्रेस नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने शनिवार को भी मोदी सरकार पर निशाना साधा. ट्विटर पर उन्होंने लिखा, ‘सही समझ के अंकुरित होने, फूल आने और फल देने में चार महीने 10 दिन लग गए.’ कटाक्ष करते हुए पी चिदंबरम ने यह भी कहा, ‘इस दौरान आर्थिक मोर्चा सुधारने के लिए वित्त मंत्रालय को बधाई भी देनी चाहिए.’

पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने शुक्रवार को जीएसटी काउंसिल द्वारा 177 वस्तुओं को 28 के बजाए 18 फीसदी जीएसटी के स्लैब में लाने की घोषणा के बाद भी मोदी सरकार और भाजपा पर निशाना साधा था. ट्विटर पर उन्होंने लिखा, ‘धन्यवाद गुजरात! आपके चुनाव ने वह कर दिखाया जो संसद और सही समझ भी नहीं सकी.’ पी चिदंबरम का इशारा था कि भाजपा सरकार ने गुजरात चुनाव की वजह से आम इस्तेमाल की वस्तुओं पर जीएसटी में कटौती की है. गुजरात विधानसभा चुनाव के लिए नौ और 14 दिसंबर को दो चरणों में मतदान होना है.

उधर, कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने भी जीएसटी को लेकर मोदी सरकार पर निशाना साधा है. शनिवार को उन्होंने कहा, ‘भारत को गब्बर सिंह टैक्स नहीं, सरल जीएसटी चाहिए. कांग्रेस और देश की जनता ने लड़कर कई वस्तुओं पर 28 फीसदी टैक्स खत्म करवाया है.’ जीएसटी के मूल ढांचे में बदलाव की मांग करते हुए कांग्रेस उपाध्यक्ष ने आगे कहा कि पार्टी 18 फीसदी की ऊपरी सीमा के साथ जीएसटी की एक दर के लिए संघर्ष करती रहेगी. राहुल गांधी के मुताबिक अगर भाजपा यह काम नहीं करेगी तो कांग्रेस इसे करके दिखाएगी.