इराकी सेना ने आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) को उसके आखिरी ठिकाने से खदेड़ने का अभियान शुरू कर दिया है. समाचार एजेंसी रॉयटर्स के अनुसार सेना ने शनिवार को आईएस के नियंत्रण वाले आखिरी इराकी शहर रावा पर कब्जा जमाने की लड़ाई छेड़ दी है. इस शहर पर इराकी सेना के कब्जे के साथ आईएस के कथित खलीफा शासन का युग समाप्त हो जाएगा. आईएस ने 2014 में इराक और सीरिया के बड़े हिस्से पर खलीफा के शासन का दावा किया था.

इराक में आईएस के कथित खलीफा शासन को कुचलने का अभियान अपने अंतिम दौर में है. इराक ने रावा शहर और सीरिया की सीमा तक के इलाके पर कब्जा करने के लिए सेना की दो पैदल टुकड़ियों के अलावा सुन्नी ट्राइबल फोर्सेज को लगाया है. रिपोर्ट के मुताबिक इराक के संयुक्त अभियान कमान ने यह जानकारी दी है. बीते हफ्ते इराकी सेना ने अल-क़ैम शहर को आईएस के कब्जे से मुक्त कराया था. इसके बाद इराक के प्रधानमंत्री हैदर अल-आब्दी ने इसे रिकॉर्ड समय में मिली सफलता करार दिया था.

उधर, गुरुवार को सीरिया की सेना ने भी इराक सीमा पर आईएस के नियंत्रण वाले आखिरी प्रमुख शहर को अपने कब्जे में ले लिया था. हालांकि, सीरिया का अल्बु कमाल शहर अभी भी आईएस के नियंत्रण में है. लेकिन सीरियाई सेना ने अपनी सहयोगी सेना के साथ यहां अभियान चला रखा है. रिपोर्ट के मुताबिक इसके रेगिस्तानी इलाके में सीरिया और सहयोगी सेना का आतंकियों के साथ संघर्ष चल रहा है.