ईरान और इराक़ में भूकंप से 400 से ज़्यादा लोगों के मारे जाने की ख़बर है. द गार्डियन के मुताबिक़ रिक्टर स्केल पर 7.3 की तीव्रता वाले इस भूकंप का केंद्र कुर्दिस्तान इलाक़े में था. सबसे ज्यादा तबाही ईरान के करमंशाह प्रांत में हुई है जहां सबसे ज्यादा 236 लोगों की मौत हुई है. मृतकों की संख्या और बढ़ने की संभावना है क्योंकि कई लोग अब भी मलबे में दबे हुए हैं. उन्हें निकालने के लिए बचाव कार्य जारी है.

वहीं, कुर्दिश अधिकारियों के मुताबिक़ इराक़ में भी भूकंप से भारी तबाही हुई है. इराक़ के दरबंदीख़ान इलाक़े में सबसे ज़्यादा नुक़सान होने की ख़बर है. स्वास्थ्य मंत्री रेकाव्त हमा रशीद ने बताया कि हालात काफ़ी नाज़ुक हैं. ज़िले के मुख्य अस्पताल को काफ़ी क्षति पहुंची है और वहां बिजली भी नहीं है. मंत्री ने कई इमारतों और घरों के भी क्षतिग्रस्त होने की बात कही. इराक़ के मौसम केंद्र ने लोगों को इमारतों से दूर रहने की और लिफ़्ट का इस्तेमाल नहीं करने की सलाह दी है. भूकंप के झटके तुर्की में भी महसूस किए गए, हालांकि वहां किसी तरह के नुक़सान की ख़बर नहीं है.

ईरान में बड़े भूकंपों का इतिहास रहा है. 1997 में पूर्वी ईरान में आए एक बड़े भूकंप में 1600 लोग मारे गए थे. इसके बाद 26 दिसंबर 2003 को दक्षिण ईरान के ऐतिहासिक शहर बाम में आए एक जबर्दस्त भूकंप में 26 हजार लोगों की मौत हो गई थी. 2006 में भी वहां एक बड़ा भूकंप आया था जिसमें 70 लोगों को जान गंवानी पड़ी थी.