आखिरकार आज फैसला हो ही गया कि रसगुल्ला मूल रूप से बंगाल की मिठाई है. हालांकि एक लंबे अरसे से बंगाल के साथ-साथ ओडिशा यह दावा करता रहा है. दोनों राज्यों के बीच का यह विवाद 2015 में चेन्नई स्थित बौद्धिक संपदा कार्यालय में पहुंचा था. संस्थान ने मंगलवार को इस मुद्दे पर पश्चिम बंगाल के हक में फैसला सुनाया है. इसके साथ ही अब रसगुल्ले के लिए पश्चिम बंगाल को जियोग्राफिकल इंडिकेशन (जीआई) टैग मिलने का रास्ता साफ हो गया है. यह टैग प्रमाणित करता है कि सबंधित वस्तु मूल रूप से किस राज्य की है. इस खबर की शुरुआती सूचना पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने एक ट्वीट के जरिए दी थी, जहां उन्होंने लिखा है, ‘हम सबके लिए मीठी खबर. हम बहुत खुश हैं और हमें बहुत गर्व हो रहा है कि बंगाल को रसगुल्ले के लिए जीआई टैग मिल गया है.’

ममता बनर्जी के इस ट्वीट के बाद कुछ ही देर में न्यूज चैनलों और वेबसाइटों पर यह खबर आ गई और इसके साथ सोशल मीडिया में रसगुल्लों की तस्वीरों के साथ इस पर चर्चा भी शुरू हो गई. एक मजेदार ट्वीट में इसे बंगालियों के लिए 1971 (बांग्लादेश मुक्ति संग्राम) के बाद सबसे बड़ी जीत बताया गया है. आज विश्व डायबिटीज दिवस भी है. इससे खबर को जोड़ते हुए ट्विटर हैंडल @dyoungbigmouth पर टिप्पणी है, ‘पश्चिम बंगाल को विश्व डायबिटीज दिवस पर रसगुल्ले का जीआई टैग मिला है. यानी कि मिठास भी इस फैसले का बहिष्कार कर रही है.’

आज देश के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू का जन्मदिन है और इस बहाने उनके नाम से जुड़े कई टॉपिक्स पर सोशल मीडिया में बहस चल रही है. इसके साथ ही यहां लोगों ने बाल दिवस के शुभकामना संदेश भी पोस्ट किए हैं. यहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर तंज करते हुए कई टिप्पणियां आई हैं.

सोशल मीडिया में आज के इन घटनाक्रमों पर आई कुछ और प्रतिक्रियाएं :

शकुनि मामा | @ShakuniUncle

बंगाली तो घोषित हो गया, लेकिन रसगुल्ला कम्युनिस्ट है या राष्ट्रवादी, यह बाद में बताया जाएगा.

अपोलिना डे | @apolina_de

...रसगुल्ला कहां से आया है इससे क्या फर्क पड़ता है... इसे आखिरकार जाना तो मुंह में ही है.

लता मंगेशकर | @mangeshkarlata

नमस्कार. भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू जी की आज जयंती है. मैं पंडित जी की याद को प्रणाम करती हूं.

यूएन भद्रलोग बंगाली | @goonereol

अभी तक किसी उदारवादी ने नहीं कहा – किसान मर रहे हैं और हम यहां रसगुल्ले की उत्पत्ति के बारे में बहस कर रहे हैं.

देबरति | @db1990mini

ममता बनर्जी, 14 नवंबर को रसगुल्ला दिवस घोषित कर दीजिए प्लीज!

हर्ष गोयनका | @hvgoenka

हम भाषा को लेकर लड़ते हैं, धर्म, गाय और जाति पर भी लड़ते हैं. बतौर राष्ट्र हमारे बीच में नदियों के पानी और बीफ से लेकर रसगुल्ले तक पर लड़ाई होती है... अब अगला मुद्दा क्या है?

नरेंद्र मोदी | @Troll_Modi

आप सभी को बाल दिवस की बधाई. बच्चों से मेरा खास नाता है. बचपन में मैं भी बच्चा था...

पीएचडी इन बक** |‏ @Atheist_Krishna

कहते हैं, ‘बच्चे भगवान का रूप होते हैं’, शायद इसलिए कांग्रेसी राहुल गांधी को भगवान मानते हैं.