किसी शहर, सड़क या जगह का नाम बदलने का सिलसिला आगे बढ़ाते हुए शनिवार को दिल्ली विश्वविद्यालय के एक कॉलेज का भी नाम बदल दिया गया है. अब तक दयाल सिंह ईवनिंग कॉलेज के नाम से चल रहे इस कॉलेज को अब वंदे मातरम कॉलेज के नाम से जाना जाएगा. कॉलेज की गवर्निंग बॉडी ने यह फैसला लेते हुए आज कहा कि यह बदलाव इसलिए किया गया क्योंकि यह अब ईवनिंग के बजाय ‘रेगुलर शिफ्ट कॉलेज’ होने जा रहा है. प्रशासन के अनुसार, इसी परिसर में रेगुलर शिफ्ट में पहले से दयाल सिंह कॉलेज चल रहा है, लिहाजा दोनों में अंतर करने के लिए ऐसा करना जरूरी था. हालांकि कॉलेज के छात्रों और प्रोफेसरों ने इस बदलाव का कड़ा विरोध किया है.

छात्रों और प्रोफेसरों ने इस फैसले का विरोध करते हुए कहा है कि इससे कॉलेज के बुनियादी ढांचे और संसाधनों में कटौती होगी. इनका तर्क है कि पहले से रेगुलर शिफ्ट में संबंधित परिसर में दयाल सिंह कॉलेज चल रहा है और दोनों कॉलेज के एक साथ काम करने से सभी को दिक्कत होगी. ये लोग कॉलेज का नाम बदलकर ‘वंदे मातरम’ करने को असल मुद्दे से ध्यान भटकाने की कोशिश बता रहे हैं.

हालांकि प्रशासन ने विरोध-प्रदर्शन को मुट्ठी भर लोगों का काम बताया है. गवर्निंग काउंसिल के अध्यक्ष अमिताभ सिंह के अनुसार कॉलेज प्रशासन ने क्लास चलाने के लिए अतिरिक्त कमरे बनाने के बाद ही यह फैसला लिया है, इसलिए बुनियादी सुविधाओं की कमी का कोई मुद्दा नहीं है. इससे पहले जुलाई में प्रशासन ने फैसला किया था कि यह कॉलेज अब शाम के बजाय दिन में चलेगा.