नाइजीरिया में हुए एक आतंकी हमले में 50 से ज्यादा लोग मारे गए हैं. द न्यू यॉर्क टाइम्स के मुताबिक यह हमला नाइजीरिया के उत्तर-पूर्व इलाके में स्थित अदमावा राज्य के मूबी कस्बे की एक मस्जिद में सुबह की नमाज के वक़्त आत्मघाती हमला हुआ. माना जा रहा है कि इस हमले के पीछे आतंकी संगठन बोको हराम का हाथ हो सकता है. हालांकि अब तक उसने इसकी जिम्मेदारी नहीं ली है. कैमरून की सीमा से लगा मूबी उन कस्बों और शहरों में शुमार होता है जहां कभी बोको हराम का कब्जा हुआ करता था. लेकिन तीन साल पहले नाइजीरियाई सुरक्षा बलाें ने इसे उनके कब्जे से मुक्त करा लिया था.

राज्य के पुलिस प्रवक्ता ओथमान अबूबकर ने इस हमले में 50 लोगों के मारे जाने की पुष्टि की है. उनका कहना है, ‘मस्जिद पर हमला करने वाला कोई लड़का था. जब लोग यहां नमाज पढ़ रहे थे तभी वह एक भीड़ भरे छोटे कमरे में नमाजियाें के बीच जा बैठा और कुछ देर में अपने आप को बम धमाके से उड़ा लिया.’ वहीं नाइजीरिया के राष्ट्रपति मुहम्मदू बुहारी ने इस हमले को ‘क्रूर और कायराना’ बताया है.

ग़ौरतलब है कि इस्लामिक आतंकी संगठन बोको हराम पिछले आठ साल से नाइजीरिया और उसके पड़ोसी देशों में सक्रिय है. पिछले कुछ समय में उसने आत्मघाती हमलों की तादाद काफी बढ़ाई है. इनमें वह उन लोगों का इस्तेमाल करता है जिन्हें उसने बंधक बना रखा है. वह मस्जिदों, बाजारों, चैकप्वाइंटों और यहां तक कि शरणार्थी शिविरों को भी निशाना बना रहा है. बताया जाता है कि इन हमलों के कारण अब तक करीब 20 लाख लोग बेघर हो चुके हैं.