भारतीय कंपनियों के लिहाज से इसे एक अच्छी ख़बर कहा जा सकता है. लार्सन एंड टुब्रो (एलएंडटी) ऐसी पहली भारतीय कंपनी बनने जा रही है जो देश के बाहर मेट्रो बनाएगी.

बिजनेस स्टैंडर्ड के मुताबिक एलएंडटी मॉरिशस में 3,400 करोड़ रुपए की मेट्रो परियोजना पूरी करेगी. और 2019-20 तक इसका परिचालन शुरू हो जाएगा. बताया जाता है कि इस परियोजना पर काम चालू वित्त वर्ष की चौथी तिमाही तक शुरू हो सकता है. मॉरिशस की सरकारी कंपनी मेट्रो एक्सप्रेस लिमिटेड और एलएंडटी के बीच इस बाबत समझौता हो चुका है. भारत इस परियोजना की लागत की करीब आधी राशि अनुदान के रूप में देगा. जबकि शेष राशि का इंतजाम स्टेट बैंक ऑफ मॉरिशस इन्फ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट कंपनी लिमिटेड द्वारा कर्ज के जरिए किया जाएगा.

शुरुआती योजना के मुताबिक मॉरीशस मेट्रो परियोजना के तहत क्योर पाइप से पोर्ट लुई तक 26 किलोमीटर का ट्रैक बनेगा. इसमें 19 स्टेशन और छह शहरी टर्मिनल होंगे. कंपनी के एक अधिकारी ने बताया, ‘यह पहली विदेशी मेट्रो परियोजना होगी, जिसे कोई भारतीय कंपनी स्वतंत्र रूप से अमली-जामा पहनाएगी. कंपनी इससे पहले रियाद और दोहा मेट्रो परियोजना की डिजाइनिंग, निर्माण और चालू करने के ठेके भी हासिल कर चुकी है. ये परियोजनाएं संयुक्त उपक्रम के तौर पर चलाई जाने वाली हैं. इनमें से दोहा मेट्रो परियोजना की लागत 20,000 करोड़ रुपए है.’