पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ पनामा पेपर्स लीक प्रकरण से जुड़े मामलों की सुनवाई के लिए बुधवार को भ्रष्टाचार रोधी अदालत के सामने पेश हो गए. द इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार उनके साथ उनकी बेटी मरियम नवाज़ और दामाद मोहम्मद सफदर भी अदालत में पेश हुए. पाकिस्तान के नेशनल अकाउंटेबिलिटी ब्यूरो (एनएबी) ने पनामा पेपर्स मामले में पूर्व प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ और उनके परिवार के सदस्यों के खिलाफ भ्रष्टाचार के तीन मामले दर्ज किए थे.

रिपोर्ट के मुताबिक पूर्व प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ ने बीते हफ्ते भ्रष्टाचार रोधी अदालत से 27 नवंबर तक सुनवाई के दौरान व्यक्तिगत हाजिरी से छूट मांगी थी, जिसे अदालत ने स्वीकार कर लिया था. हालांकि, वे अपने बदले कार्यक्रम के तहत बुधवार को अदालत में पेश हो गए. इसके बाद जज मोहम्मद बशीर ने सुनवाई शुरू कर दी.

पूर्व प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ ने गवाहों की समानता के आधार पर इस्लामाबाद स्थित अकाउंटेबिलिटी कोर्ट से एनएबी द्वारा दर्ज तीनों मामलों को मिलाने की भी मांग की थी, लेकिन अदालत ने इसे खारिज कर दिया था. बीते हफ्ते सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस साकिब निसार ने भी इन मामलों को मिलाने की अपील को खारिज कर दिया था. नवाज़ शरीफ इन तीनों मामलों में आरोपित हैं, जबकि उनकी बेटी मरियम नवाज़ और दामाद मोहम्मद सफदर एक मामले में सह-आरोपित हैं.

जुलाई में सुप्रीम कोर्ट ने पनामा पेपर्स मामले की सुनवाई करते हुए नवाज़ शरीफ को प्रधानमंत्री पद के लिए अयोग्य करार दिया था. इसके साथ नवाज शरीफ और उनके बच्चों के खिलाफ भ्रष्टाचार के मामले दर्ज करने और तय समय में उनकी सुनवाई करने का आदेश दिया था. इसके बाद नवाज़ शरीफ को प्रधानमंत्री पद छोड़ना पड़ गया था.