‘कांग्रेस-हार्दिक क्लब एक तरह का आपसी धोखा है.’  

— अरुण जेटली, केंद्रीय वित्त मंत्री

केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली का यह बयान गुजरात में पाटीदार समुदाय के आरक्षण मुद्दे पर हार्दिक पटेल द्वारा कांग्रेस के साथ समझौता होने का दावा किए जाने पर आया. उन्होंने कहा, ‘आरक्षण को लेकर कानून बहुत स्पष्ट है, जिसे सुप्रीम कोर्ट ने बनाया है. पिछले हफ्ते भी इसकी पुष्टि की है कि आरक्षण 50 प्रतिशत से ज्यादा नहीं हो सकता.’ अरुण जेटली ने आगे कहा, ‘वे (कांग्रेस और हार्दिक पटेल) यह कहकर अपने साथ-साथ जनता को मूर्ख बना रहे हैं कि उन्होंने आरक्षण की सीमा को तोड़ने की तरकीब खोज ली है.’ केंद्रीय मंत्री के मुताबिक चुनाव के दौरान केवल वही वादे करने चाहिेए, जिन्हें लागू किया जा सके, नहीं तो यह मतदाताओं के साथ धोखेबाजी है.

‘देश की एकता के लिए अगर और लोगों को मारना पड़ता तो सुरक्षा बल मारते.’

— मुलायम सिंह यादव, सपा संरक्षक और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री

सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव का यह बयान 1990 में अयोध्या में कारसेवकों पर गोली चलवाने के आदेश को सही ठहराते हुए आया. उन्होंने कहा, ‘कुछ मुसलमानों ने यह कहकर हथियार उठा लिये थे कि जब हमारी इबादत की जगह नहीं बचेगी तो देश में क्या बचेगा?’ विधानसभा चुनाव में पार्टी के प्रदर्शन को शर्मनाक बताते हुए मुलायम सिंह यादव ने कहा कि उनकी पार्टी को इतनी कम सीटें तो कारसेवकों को गोली चलवाने के बाद भी नहीं मिली थीं, जब विपक्ष उन्हें ‘हत्यारा’ कह रहा था. अखिलेश यादव के साथ मनमुटाव को लेकर मुलायम सिंह यादव ने कहा कि वे (अखिलेश यादव) बेटा पहले और नेता बाद में हैं.


‘कांग्रेस ने सरकार बनने पर पाटीदारों को आरक्षण देने की मांग मान ली है.’

— हार्दिक पटेल, पाटीदार अनामत आंदोलन समिति के संयोजक

पाटीदार नेता हार्दिक पटेल का यह बयान अपने संगठन की मांगों पर कांग्रेस के साथ समझौता होने का दावा करते हुए आया. उन्होंने कहा, ‘पाटीदार समुदाय को आरक्षण देने का मसौदा हम लोगों ने तैयार कर लिया है. यह फार्मूला केवल पाटीदार समुदाय तक सीमित नहीं है.’ बुधवार को हार्दिक पटेल ने भाजपा पर गुजरात में पाटीदारों को प्रताड़ित करने का भी आरोप लगाया. उन्होंने कहा, ‘भाजपा के पक्ष में मतदान करके अपने मतों की बर्बादी न करें. वे सोचते हैं कि जनता मूर्ख है.’ हार्दिक पटेल ने भाजपा पर पैसे का लालच देकर संगठन के लोगों को तोड़ने की कोशिश करने का भी आरोप लगाया.


‘भाजपा और प्रधानमंत्री मोदी देश में राजनीतिक भाषा का स्तर गिराने के लिए जिम्मेदार हैं.’

— अभिषेक मनु सिंघवी, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता

कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी का यह बयान युवा संदेश द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ ट्वीट से शुरू हुए विवाद को लेकर आया. भाजपा के खिलाफ ‘माफी मांगो अभियान’ चलाने की घोषणा करते हुए उन्होंने कहा, ‘अफसोस, माफी और पश्चाताप जैसे शब्द भाजपा के शब्दकोश में ही शामिल नहीं हैं. भाजपा ने अभी तक किसी के खिलाफ अपनी आपत्तिजनक टिप्पणी के लिए माफी नहीं मांगी है.’ अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी अपने विरोधियों के लिए भौंकना, दीमक और रात के चौकीदार जैसे शब्दों का इस्तेमाल करते हैं. कांग्रेस प्रवक्ता ने परेश रावल के विवादित ट्वीट के अन्य भाजपा नेताओं की आपत्तिजनक टिप्पणियों का जिक्र करते हुए निशाना साधा.


‘म्यांमार के रखाइन राज्य में रोहिंग्या मुसलमानों का जातीय सफाया करने जैसे हालात हैं.’

— रेक्स टिलरसन, अमेरिका के विदेश मंत्री

अमेरिकी विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन का यह बयान म्यांमार में रोहिंग्या मुसलमानों के उत्पीड़न की रिपोर्टों को जिक्र करते हुए आया. उन्होंने रोहिंग्या मुसलमानों के उत्पीड़न के लिए म्यांमार की सेना और कानून हाथ में लेने वाले स्थानीय गुटों को जिम्मेदार ठहराया. रोहिंग्या उपद्रवियों द्वारा हिंसा उकसाने के म्यांमार के दावे पर रेक्स टिलरसन ने कहा, ‘कोई भी उकसावा पिछले दिनों वहां पर हुए उत्पीड़न को सही नहीं ठहरा सकता.’ उन्होंने आगे कहा कि रोहिंग्या मुसलमानों के उत्पीड़न के लिए जिम्मेदार लोगों की जवाबदेही तय होनी चाहिए. पूरे मामले की पुख्ता जांच की मांग करते हुए विदेश मंत्री का कहना था कि अमेरिका अपने कानून के तहत न्याय दिलाने की कोशिश करेगा, जिसमें प्रतिबंध भी शामिल हैं.