अमेरिका में सीनेट ने देश के कर ढांचे में व्यापक बदलाव करने वाला विधेयक पारित कर दिया है. शनिवार को हुए मतदान में इस विधेयक के पक्ष में 51 और विरोध में 49 वोट पड़े. द न्यूयॉर्क टाइम्स के अनुसार यह विधेयक अमेरिकी अर्थव्यवस्था के सभी हिस्सों, परिवारों, छोटे कारोबारियों और बहुराष्ट्रीय कंपनियों को प्रभावित करने वाला है. हालांकि, इसका सबसे ज्यादा लाभ अमेरिका में ज्यादा कमाई करने वालों को होने की उम्मीद जताई गई है. इसे रिपब्लिकन पार्टी के सीनेटरों की बड़ी जीत के तौर पर भी देखा जा रहा है.

रिपोर्ट के मुताबिक विधेयक के जरिए कार्पोरेट टैक्स में स्थायी कटौती कर इसे 35 फीसदी से घटाकर 20 फीसदी किया गया है. इसके अलावा 2025 तक आम व्यक्तियों के लिए करों में कटौती होगी, लेकिन यह अस्थायी होगी. इसमें ओबामाकेयर स्वास्थ्य योजना को खत्म करने का भी प्रावधान शामिल है. इसे पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा के समय में शुरू किया गया था. ओबामाकेयर से लगभग दो करोड़ अमेरिकी नागरिकों को स्वास्थ्य बीमा के दायरे में लाया गया था. हालांकि, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप लंबे समय से इसका विरोध कर रहे थे. विधेयक पारित होने के बाद ट्विटर पर उन्होंने लिखा, ‘हम अमेरिका के कामकाजी परिवारों को भारी कर कटौती का लाभ देने के बहुत नजदीक हैं...विधेयक पर क्रिसमस से पहले हस्ताक्षर होने की उम्मीद करें.’ अमेरिकी संसद की प्रतिनिधि सभा ने इसे पिछले हफ्ते ही पारित कर चुकी है. राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के हस्ताक्षर के साथ यह विधेयक कानून बन जाएगा.

इस विधेयक पर सीनेट में कई दिनों तक बहस होने के बाद शनिवार को मतदान हुआ. रिपब्लिकन सीनेटर बॉब कोकर ने पार्टी नेतृत्व के खिलाफ जाकर इस विधेयक के विरोध में मतदान किया. रिपोर्ट के मुताबिक उन्होंने कहा, ‘मैं इसके पक्ष में मतदान करने वाला था, लेकिन अंत में मैं अपनी वित्तीय चिंताओं को नजरअंदाज नहीं कर पाया. अभी मेरे पास जो सूचनाएं हैं, उसके आधार पर मेरा मानना है कि यह आने वाली पीढ़ियों पर कर्ज का बोझ बढ़ाने वाला है.’ वहीं, डेमोक्रेटिक पार्टी के एक भी सीनेटर ने इस विधेयक का समर्थन नहीं किया.