लंबे इंतजार के बाद इंफोसिस ने कैपजेमिनाइ के कार्यकारी सलिल एस पारेख को अपना नया मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) और प्रबंध निदेशक (एमडी) नियुक्त किया है. सूचना तकनीक क्षेत्र में दिग्गज कंपनियों में शामिल इंफोसिस ने बताया है कि सलिल एस पारेख दो जनवरी से पद संभालेंगे. इसी साल अगस्त में इंफोसिस के सीईओ विशाल सिक्का ने अचानक इस्तीफा दे दिया था. कंपनी ने यूबी प्रवीण राव को अंतरिम सीईओ और एमडी नियुक्त कर दिया था. कंपनी इसके बाद से नए सीईओ की तलाश कर रही थी.

इंफोसिस के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स ने शनिवार को सलिल एस पारेख की नियुक्ति को मंजूरी दी. कंपनी द्वारा सभी स्टॉक एक्सचेंज को दी गई जानकारी के मुताबिक सलिल एस पारेख का कार्यकाल पांच साल का होगा और उनकी नियुक्ति निवेशकों के अनुमोदन के अधीन होगी. सलिल एस पारेख के पद संभालने के बाद अंतरिम सीईओ यूपी प्रवीन राव मुख्य संचालन अधिकारी (सीओओ) की अपनी जिम्मेदारी दोबारा संभाल लेंगे.

सलिल एस पारेख फ्रांस की परामर्शदाता फर्म कैपजेमिनाइ पर शीर्ष कार्यकारी रहे हैं. कैपजेमिनाइ ने जानकारी दी है कि सलिल एस पारेख ने वहां से इस्तीफा दे दिया है जो एक जनवरी से प्रभावी होगा. सलिल एस पारेख कैपजेमिनाइ से साल 2000 में जुड़े थे. आईआईटी मुंबई से एयरोनॉटिक्स इंजीनियरिंग में बीटेक करने वाले सलिल एस पारेख ने कॉर्नेल यूनिवर्सिटी से कंप्यूटर साइंस और मैकेनिकल इंजीनियरिंग में मास्टर डिग्री ली थी.