भारत और श्रीलंका के बीच दिल्ली के फिरोजशाह कोटला में खेले जा रहे टेस्ट मैच का पहला दिन भारत की नई ‘रन मशीन’ विराट कोहली के नाम रहा. यह तीन टेस्ट मैचों की सीरीज का आखिरी टेस्ट है. शनिवार का खेल खत्म होने तक भारत ने कप्तान कोहली (186 गेंदों पर 156 रन नाबाद) और मुरली विजय (267 गेंदों पर 155 रन) के शतकों की बदौलत तीन विकेट के नुकसान पर 371 रन बना लिए हैं. विराट की आज की पारी की खासियत यह रही कि उन्होंने अपने घरेलू मैदान पर टेस्ट करियर का पहला शतक जमाया है. यही नहीं इस पारी के बूते उन्होंने कई दूसरे अहम रिकॉर्ड और उपलब्धियां भी हासिल की हैं. इन पर एक नजर :

1. टेस्ट क्रिकेट में 5,000 रन : हर मैच में कोई न कोई नई उपलब्धि हासिल कर रहे विराट कोहली ने आज अपने टेस्ट करियर के 5,000 रन पूरे कर लिए. इसके लिए उन्हें 63 टेस्ट की 105 पारियां खेलनी पड़ीं. वे ऐसा करने वाले भारत के 11वें बल्लेबाज हैं. वे सबसे कम पारियों में यह मुकाम हासिल करने वाले भारतीय बल्लेबाजों में चौथे नंबर पर हैं. उनसे तेज यह उपलब्धि सुनील गावस्कर (95 पारी), वीरेंदर सेहवाग (98 पारी) और सचिन तेंदुलकर (103 पारी) ने ही हासिल की है.

2. टेस्ट क्रिकेट में 20 शतक : आज 20वां टेस्ट शतक बनाकर विराट ऐसा करने वाले देश के छठे खिलाड़ी बन गए. भारत के लिए टेस्ट मैचों में उनसे ज्यादा शतक सिर्फ सचिन तेंदुलकर (51), राहुल द्रविड़ (36), सुनील गावस्कर (34), वीरेंद्र सेहवाग (23) और मोहम्मद अजहरूद्दीन (22) ने ही लगाए हैं.

वहीं सबसे तेजी से 20 शतक लगाने के मामले में वे दुनिया के पांचवें और भारत के दूसरे खिलाड़ी हैं. इस मामले में उनसे तेज डॉन ब्रेडमैन (55 पारी), सुनील गावस्कर (93 पारी) मैथ्यू हेडेन (95 पारी) और स्टीव स्मिथ (105 पारी) ही रहे हैं.

3. अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 16,000 रन : विराट कोहली ने ​आज क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में अपने 16,000 रन पूरा किए. इसमें 5,131 रन टेस्ट, 9,030 रन वनडे और 1,956 रन टी-20 के हैं. उन्होंने अब तक 63 टेस्ट, 202 वनडे और 55 टी-20 मैच खेले हैं.

4. अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 52 शतक : आज अपने करियर का 52वां शतक लगाकर विराट अब सबसे ज्यादा शतक बनाने वाले खिलाड़ियों में आठवें नंबर पर पहुंच गए हैं. उनसे ज्यादा शतक सचिन तेंदुलकर (100), रिकी पोंटिंग (71), कुमार संगकारा (63), जैक कालिस (62), महेला जयवर्धने (54) और हाशिम अमला (54) के नाम ही हैं. हालांकि अभी क्रिकेट खेल रहे बल्लेबाजों में केवल हाशिम अमला ही कोहली से आगे हैं. वैसे सबसे तेजी से 52 शतकों के मुकाम तक पहुंचने के मामले में विराट कोहली सबसे आगे हैं.

5. टेस्ट कप्तान के रूप में 3,000 रन और 13 शतक : टेस्ट में बतौर कप्तान अभी तक केवल दो भारतीयों ने 3,000 से ज्यादा रन बनाए थे. लेकिन अब विराट कोहली ऐसा करने वाले तीसरे भारतीय बन गए हैं. अभी ऐसा करने वालों में सबसे आगे महेंद्र सिंह धोनी (3454 रन) हैं जबकि दूसरे स्थान पर सुनील गावस्कर (3449 रन) हैं.

वहीं भारत के कप्तान के रूप में कोहली के नाम अब 13 शतक हो गए हैं. इस मामले में वे देश के सबसे बेहतर कप्तान हैं. उन्होंने नागपुर में खेले गए पिछले टेस्ट मैच में ही सुनील गावस्कर के 11 शतकों का रिकॉर्ड तोड़ा था. हालांकि दुनिया में कप्तान के रूप में उनसे ज्यादा शतक नौ लोगों ने बनाए हैं. इनमें 25 शतकों के साथ ग्रीम स्मिथ सबसे आगे हैं. उसके बाद 19 शतकों के साथ रिकी पोंटिंग और 15 शतकों के साथ एलन बॉर्डर हैं.

6. विराट कोहली के लिए 2017 कैलेंडर वर्ष बेहद खास रहा है. तीनों ही प्रारूप मिलाकर उन्होंने इस साल अभी तक 2,681 रन बना लिए हैं. उन्होंने वनडे में 1,460, टेस्ट में 922 और टी-20 में 299 रन बनाए हैं.

विराट का मौजूदा फॉर्म देखते हुए अनुमान लगाया जा रहा है कि वे 2014 में कुमार संगकारा द्वारा एक कैलेंडर वर्ष में बनाए गए सबसे ज्यादा 2,868 रनों का रिकॉर्ड आसानी से तोड़ देंगे. यह भी संभव है कि वे एक साल में 3,000 रन बनाने वाले दुनिया के पहले बल्लेबाज बन जाएं. फिलहाल क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में भारत का नेतृत्व कर रहे विराट अब एक कैलेंडर वर्ष में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले कप्तान भी बन सकते हैं. अभी यह रिकॉर्ड रिकी पोंटिंग के नाम है. उन्होंने 2005 में आॅस्ट्रेलिया के लिए बतौर कप्तान 2,833 रन बनाए थे.

7. विराट कोहली किसी एक कैलेंडर वर्ष में सबसे ज्यादा 11 शतक बनाने वाले दुनिया के एकमात्र कप्तान बन गए हैं. यदि वे 2017 में एक और शतक बना लेते हैं तो खिलाड़ी के रूप में भी एक कैंलेंडर वर्ष में सबसे ज्यादा 12 शतक बनाने के सचिन तेंदुलकर के रिकॉर्ड की बराबरी कर लेंगे और फिलहाल इसकी काफी संभावना नजर आ रही है.

8. विराट मौजूदा सीरीज के तीनों मैचों में शतक ठोककर तीन मैचों की टेस्ट सीरीज के सभी मैचों में शतक बनाने वाले दुनिया के इकलौते कप्तान बन गए हैं. उन्होंने कोलकाता और नागपुर में भी शतक लगाया था. हालांकि किसी सीरीज के लगातार तीन मैचों में एक कप्तान के रूप में वह यह काम एक बार और कर चुके हैं. उन्होंने 2014-15 के आॅस्ट्रेलिया दौरे पर तीन लगातार मैचों में शतक लगाए थे. लेकिन तब वह सीरीज चार मैचों की थी.

9. विराट क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में शानदार प्रदर्शन जारी रखते हुए अपने औसत को 50 के पार ले जाने में कामयाब हुए हैं. अभी क्रिकेट खेल रहे खिलाड़ियों में ऐसा करने वाले वे इकलौते हैं. आज के प्रदर्शन के बाद उनका तीनों प्रारूपों का औसत 54.63 हो गया है.

10. यदि भारत मौजूदा टेस्ट सीरीज में श्रीलंका को हराने में कामयाब हो जाता है, जिसकी पूरी उम्मीद है, तो विराट कोहली कप्तान के रूप में लगातार नौ टेस्ट सीरीज जीतने वाले दुनिया के दूसरे कप्तान बन जाएंगे. आॅस्ट्रेलिया के कप्तान के रूप में रिकी पोंटिंग पहले ऐसा कर चुके हैं.