आयकर विभाग ने आम आदमी पार्टी को 30 करोड़ रुपये का नोटिस भेजा | सोमवार, 27 नवंबर 2017

दिल्ली की सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी और केंद्र सरकार के बीच टकराव का नया दौर शुरू होता दिखाई दे रहा है. समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार आयकर विभाग ने सोमवार को आम आदमी पार्टी को 30.67 करोड़ रुपये का जुर्माना चुकाने का नोटिस भेजा है. आयकर विभाग ने नोटिस में कहा है कि आम आदमी पार्टी ने 13 करोड़ रुपये की अपनी आय की जानकारी नहीं दी थी. इसके अलावा इसमें पार्टी पर 462 दानकर्ताओं का ब्योरा दर्ज न करने का भी आरोप लगाया गया है. आयकर विभाग ने इस पर सफाई देने के लिए पार्टी को सात दिसंबर तक का समय दिया है.

आयकर विभाग ने 2014-15 में आम आदमी पार्टी को मिले चंदे की पड़ताल में सामने आई गड़बड़ी के आधार पर यह नोटिस भेजा है. इंडिया टुडे के अनुसार आयकर विभाग ने आम आदमी पार्टी को मिले पैसों को राजनीतिक चंदा नहीं, बल्कि कर योग्य आय माना है. हालांकि, आम आदमी पार्टी के संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इसे राजनीतिक बदले की कार्रवाई बताया है. ट्विटर पर उन्होंने लिखा, ‘भारत के इतिहास में एक राजनीतिक दल को मिले सारे चंदे को गैर-कानूनी घोषित कर दिया गया है, जबकि इन्हें खातों में दिखाया गया था.’

नोटबंदी के बाद 25 लाख रुपये से ज्यादा नगद जमा करने वालों को आयकर विभाग का नोटिस | मंगलवार, 28 नवंबर 2017

आयकर विभाग ने नोटबंदी के बाद बैंक खातों में लाखों रुपये जमा करने वालों पर नकेल कसनी शुरू कर दी है. द मिंट के अनुसार आयकर विभाग ने ऐसे 1.16 लाख लोगों और कंपनियों को नोटिस भेजा है, जिन्होंने नोटबंदी के बाद अपने बैंक खातों में 25 लाख रुपये से ज्यादा की राशि जमा कराई थी, लेकिन तय समय में इनकम टैक्स रिटर्न नहीं भरा था. आयकर विभाग ने इन सभी लोगों को 30 दिन के भीतर रिटर्न भरने का निर्देश दिया है.

रिपोर्ट के मुताबिक आयगर विभाग ने 25 लाख रुपये से कम राशि जमा कराने और इनकम टैक्स रिटर्न न भरने वालों को भी नोटिस भेजने की बात कही है. केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) के अध्यक्ष सुशील चंद्रा ने बताया कि नोटबंदी के बाद 2.5 लाख लोगों ने 10 लाख रुपये से लेकर 25 लाख रुपये तक पुराने नोट जमा कराए थे, लेकिन अभी तक आयकर रिटर्न नहीं भरा है. उन्होंने आगे कहा कि अगर इन लोगों ने रिटर्न नहीं भरा तो इन्हें दूसरे चरण में नोटिस भेजा जाएगा. सुशील चंद्रा ने यह भी बताया कि जिन्होंने बैंक खातों में बड़ी राशि जमा कराने के बाद आयकर रिटर्न भर दिया है, उनकी भी जांच की जा रही है.

मैंने अदालत से आजादी मांगी थी, लेकिन अभी तक मैं आजाद नहीं हूं : हादिया | बुधवार, 29 नवंबर 2017

सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर तमिलनाडु के सलेम स्थित शिवराज होम्योपैथिक मेडिकल कॉलेज में अपनी पढ़ाई पूरी करने पहुंची केरल की हादिया ने अपनी आजादी का सवाल उठाया है. द न्यूज मिनट के अनुसार बुधवार को हादिया ने कहा, ‘मैं जिसे प्यार करती हूं उससे मिलने की आजादी चाहती हूं. मैंने अदालत से आजादी मांगी थी. लेकिन आज की तारीख तक मैं आजाद नहीं हूं.’ उन्होंने आगे कहा, ‘अदालत के आदेश पर कॉलेज की राय स्पष्ट नहीं है. हम लोग कुछ दिन और इंतजार करेंगे. उम्मीद है कि यह कॉलेज मेरे लिए नई जेल नहीं बन जाएगा.’

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक 25 वर्षीय हादिया ने अन्य नागरिकों की तरह अधिकारों की मांग की. उसने कहा, ‘मैं उन बुनियादी अधिकारों की मांग कर रही हूं जो दूसरे नागरिकों को हासिल हैं. इसका राजनीति या जाति से कोई लेना-देना नहीं है. हम सभी उन लोगों से बात करना चाहते हैं, जिसे पसंद करते हैं.’ हादिया ने बताया कि कॉलेज में उसके पास फोन या दूसरा कोई साधन नहीं है, जिससे वह किसी से संपर्क कर सके. इससे पहले मंगलवार को कॉलेज के प्रिंसिपल जी कन्नन ने कहा था कि हादिया को अखिला अशोकन (धर्मांतरण से पहले का नाम) के नाम से दाखिला दिया जाएगा. उन्होंने यह भी कहा था कि हादिया को उसके माता-पिता के अलावा अन्य किसी से मिलने की इजाजत नहीं दी जाएगी.

वर्ल्ड वेटलिफ्टिंग चैंपियनशिप : मीराबाई चानू ने भारत को 22 साल बाद गोल्ड दिलाया | गुरुवार, 30 नवंबर 2017

अमेरिका के अनाहाइम शहर में चल रही वर्ल्ड वेटलिफ्टिंग चैंपियनशिप में भारत की सैखोम मीराबाई चानू ने स्वर्णिम सफलता हासिल की है. महिलाओं के 48 किग्रा भार वर्ग में हिस्सा लेते हुए चानू ने रिकॉर्ड कुल 194 किग्रा का भार उठाया है. उन्होंने पहले 85 किग्रा (स्नैच में) और फिर 109 किग्रा भार (क्लीन और जर्क में) उठाया. वर्ल्ड वेटलिफ्टिंग चैंपियनशिप में भारत को 22 साल बाद स्वर्ण पदक हासिल हुआ है. इससे पहले इस चैंपियनशिप में भारत की ओर से ओलंपिक पदक विजेता कर्णम मल्लेश्वरी ने 1994 और 1995 में स्वर्णिम सफलता हासिल की थी.

जल्द ही तीन तलाक देने वालों को तीन साल की सजा हो सकती है | शुक्रवार, 01 दिसंबर 2017

तीन तलाक देने वालों को अब तीन साल तक की सजा हो सकती है. सरकार ने इस संबंध में एक कानून का मसौदा तैयार कर लिया है. इसके मुताबिक तीन तलाक देना गैरजमानती अपराध होगा.

प्रस्तावित कानून का मसौदा गृहमंत्री राजनाथ सिंह की अगुवाई वाली मंत्रियों की एक समिति ने बनाया है. फिलहाल इसे राज्यों को भेजा गया है ताकि वे इस पर अपनी राय दे सकें. इसके बाद कानून मंत्रालय इसे कैबिनेट के सामने रखेगा. प्रस्तावित कानून के मुताबिक तीन तलाक, भले ही वो बोलकर दिया गया हो या लिखकर या फिर वाट्सऐप के जरिये, अपराध होगा. इसमें पीड़िता द्वारा अपने और अपने बच्चों के लिए गुजारा भत्ता पाने के मकसद से मजिस्ट्रेट के पास गुहार लगाने का भी प्रावधान है.

कुछ समय पहले सुप्रीम कोर्ट ने तीन तलाक को गैरकानूनी घोषित कर दिया था. इसके बाद भी यह प्रथा जारी रहने की खबरें आ रही थीं. यही वजह है कि अब सरकार इसके लिए कानून लाने की तैयारी में है.

अगर इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन की जगह मतपत्रों से चुनाव हो तो भाजपा नहीं जीत पाएगी : मायावती | शनिवार, 02 दिसंबर 2017

बसपा प्रमुख मायावती ने उत्तर प्रदेश नगर निकाय चुनाव में भाजपा पर इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों (ईवीएम) से छेड़छाड़ का आरोप लगाया है. समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार शनिवार को उन्होंने कहा, ‘भाजपा ने 2017 के विधानसभा चुनाव में ईवीएम से छेड़छाड़ की थी, जैसा उन्होंने 2014 में किया था.’ मायावती ने आगे कहा, ‘इस निकाय चुनाव में भी उन्होंने (भाजपा) चुनावी प्रक्रिया से छेड़छाड़ की, नहीं तो हमारे ज्यादा मेयर होते. फिर भी वे हमें हरा नहीं पाए, बसपा दूसरे नंबर पर आई है.’

रिपोर्ट के मुताबिक बसपा प्रमुख मायावती ने ईवीएम की जगह मतपत्रों से चुनाव कराने की चुनौती दी. उन्होंने कहा, ‘मैं भाजपा को चुनौती देती हूं कि अगर वह संविधान में भरोसा करती है तो ईवीएम को हटाकर मतपत्रों से चुनाव कराए.’ मायावती ने आगे कहा कि अगर ईवीएम की जगह मतपत्रों से चुनाव हो तो भाजपा नहीं जीत पाएगी. भाजपा ने उत्तर प्रदेश निकाय चुनावों में ऐतिहासिक जीत दर्ज की है. प्रदेश में मेयर की 16 सीटों में 14 पर भाजपा और बाकी दो पर बसपा जीती है.