आम आदमी पार्टी (आप) के संस्थापक नेताओं में शामिल कुमार विश्वास नेतृत्व से खुश नहीं हैं. और वे जब-तब अपनी नाखुशी जाहिर करते रहते हैं. इसी क्रम में एक बार फ़िर उन्होंने खुलकर अपनी राय जाहिर की है. द फाइनेंशियल एक्सप्रेस के मुताबिक कुमार विश्वास ने कहा है, ‘ऐसे लोगों की सूची बहुत लंबी है जो पिछले दिनों में पार्टी से बाहर गए हैं. इनमें प्रशांत भूषण और योगेंद्र यादव भी शामिल हैं. हम ऐसे लोगों को पार्टी में वापस लाने पर विचार क्यों नहीं कर सकते? जरूरत पड़ी तो उनसे माफ़ी क्याें नहीं मांग सकते? बल्कि मांगेंगे.’ बताया जा रहा है कि पार्टी कार्यकर्ताओं से बातचीत के एक कार्यक्रम से इतर कुछ प्रतिनिधियों से बात करते हुए कुमार ने यह राय जाहिर की है. यही नहीं उन्होंने पार्टी में संवाद की स्थिति और बेहतर करने की जरूरत भी बताई है.

हालांकि पार्टी ने इस तरह की बातों को खारिज किया है. आप प्रवक्ता संजय सिंह ने कहा, ‘यह विश्वास की निजी राय हो सकती है. क्योंकि पार्टी से बाहर गए नेताओं की ओर से किसी ने हमसे संपर्क नहीं किया है. और न पार्टी नेतृत्व की ओर से ऐसी किसी सुलह-सफाई की कोशिश की गई. इस तरह के प्रस्ताव पर किसी फोरम में कोई चर्चा भी नहीं हुई.’

प्रशांत-योगेंद्र को अप्रेल-2015 में पार्टी विरोधी गतिविधियों के आरोप में आप से बाहर कर दिया गया था. इनके अलावा धरमवीर गांधी, अंजली दमानिया, शाज़िया इल्मी, कपिल मिश्रा जैसे कई नेता पार्टी छोड़कर जा चुके हैं.