‘लोकतंत्र बचाने की मेरी लड़ाई आगे भी जारी रहेगी.’   

— शरद यादव, राज्यसभा के पूर्व सांसद

जनता दल यूनाइटेड (जदयू) के पूर्व अध्यक्ष शरद यादव ने उनकी राज्यसभा की सदस्यता रद्द किए जाने के एक दिन बाद मंगलवार को यह बात कही. शरद यादव ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर परोक्ष रूप से हमला बोलते हुए कहा कि उनकी राज्यसभा की सदस्यता इसलिए गई क्योंकि उन्होंने ‘अलोकतांत्रिक कार्यशैली’ के खिलाफ आवाज उठाई थी. यादव ने राजद और जदयू को मिलाकर बनाए गए महागठबंधन के बारे में कहा कि इसका गठन भाजपा की अगुवाई वाले राजग को हराने के लिए किया गया था, लेकिन सत्ता में बने रहने के लिए इसे तोड़ा दिया गया.

‘आखिर कपिल सिब्बल राम जन्मभूमि मामले की सुनवाई क्यों रुकवाना चाहते हैं? कांग्रेस को यह बताना चाहिए.’   

— अमित शाह, भाजपा अध्यक्ष

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह का यह बयान अहमदाबाद में कांग्रेस और उसके भावी अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए आया. इसके साथ भाजपा अध्यक्ष ने तंज कसते हुए कहा है कि कांग्रेस के नेता कपिल सिब्बल सुप्रीम कोर्ट में कह रहे हैं कि राम जन्मभूमि मामले की सुनवाई लोकसभा चुनाव तक के लिए टाल दी जाए जबकि इधर गुजरात में राहुल गांधी मंदिरों का दौरा कर रहे हैं. अमित शाह ने इसे कांग्रेस पार्टी का दोहरा रवैया करार दिया. उन्होंने कपिल सिब्बल से पूछा है कि आखिर चुनाव का सुन्नी वक्फ बोर्ड से क्या लेना-देना है? अमित शाह ने कांग्रेस से यह भी जानना चाहा है कि वह इस मसले का जल्दी से जल्दी समाधान चाहती है या नहीं.


‘मोदी जी के भाषण की 60 फीसदी बातें कांग्रेस और मेरे बारे में होती हैं.’

— राहुल गांधी, कांग्रेस उपाध्यक्ष

कांग्रेस नेता राहुल गांधी का यह बयान गुजरात के कच्छ की एक चुनावी रैली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए आया. यहां उनका कहना था, ‘कल मैंने प्रधानमंत्री का भाषण सुना पर उसे सुनकर निराशा हुई.’ राहुल गांधी ने नरेंद्र मोदी पर आरोप लगाते हुए कहा कि वे अपने भाषण में कभी गुजरातियों के भविष्य या भाजपा की भावी योजना के बारे में नहीं बोलते जबकि यह चुनाव गुजरात का भविष्य तय करेगा. वहीं कांग्रेस के चुनावी घोषणा पत्र के बारे में राहुल ने दावा किया कि इसे राज्य के सभी पक्षों का ख्याल रखते हुए तैयार किया गया है.


‘पाकिस्तान को अब अपने यहां मौजूद आतंकियों से निपटने की दोगुनी कोशिश करनी चाहिए.’  

— जेम्स मैटिस, अमेरिका के रक्षा मंत्री

पाकिस्तान के दौरे पर गए अमेरिकी रक्षा मंत्री जेम्स मैटिस का यह बयान पाकिस्तान स्थित अमेरिकी दूतावास ने मंगलवार को जारी किया है. पाकिस्तानी प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्बासी और अन्य अधिकारियों से मुलाकात के दौरान जेम्स मैटिस ने उनसे अफगानिस्तान में शांति बहाली के प्रयासों में सहयोग करने की अपील की है. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान इस इलाके में सुरक्षा और स्थिरता बहाली के प्रयासों में सहयोग करके ही अमेरिका की सबसे अधिक मदद कर सकता है. अमेरिकी रक्षा मंत्री ने कहा कि उनकी इस यात्रा का उद्देश्य पाकिस्तान के साथ सकारात्मक और दीर्घकालिक संबंध विकसित करने वाले साझा उपायों की तलाश करना है.