लगता है महाराष्ट्र कांग्रेस के नेता शहज़ाद पूनावाला पीछे हटने को तैयार नहीं हैं. पार्टी अध्यक्ष के तौर पर राहुल गांधी के चुनाव का खुला विरोध करने के बाद अब शहज़ाद उनको गुजरात चुनाव में सीधी चुनौती देने वाले हैं.

डीएनए की ख़बर के मुताबिक आठ दिसंबर से गुजरात के राजकोट से शहज़ाद अपना अभियान शुरू करेंगे. इसमें उनका मुख्य नारा होगा, ‘असली कांग्रेस बचाओ, वंशवाद हटाओ.’ उन्होंने अख़बार को बताया, ‘मैं कांग्रेस के औरंगज़ेब (राहुल गांधी) के ख़िलाफ़ अभियान शुरू करने जा रहा हूं. यह अभियान देशव्यापी होगा. इसमें कांग्रेस के वे सभी नेता शामिल होंगे जो पार्टी की बेहतरी चाहते हैं. और जो मेरी सोच से सहमत हैं.’ अख़बार की मानें तो पूनावाला गुजरात में कांग्रेस के ख़िलाफ़ वैसी ही भूमिका निभा सकते हैं जैसी हार्दिक पटेल भारतीय जनता पार्टी के विरुद्ध निभा रहे हैं.

सिर्फ़ यही नहीं. पूनावाला 2019 के लोकसभा चुनाव में राहुल गांधी के संसदीय क्षेत्र अमेठी में भी उनके ख़िलाफ़ अभियान चलाएंगे. हालांकि उनकी दलील यह भी है कि उनका अभियान वंशवादी राजनीति के विरुद्ध है भाजपा को फ़ायदा पहुंचाने या उसकी जीत सुनिश्चित करने के लिए नहीं. उन्होंने पार्टी अध्यक्ष के पद पर राहुल के चुनाव को फ़िर ग़लत बताया. उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस के इतिहास में राहुल गांधी पहले अवैधानिक और असंवैधानिक अध्यक्ष होंगे. इसलिए जब वे यह पद संभालेंगे तो मेरे समर्थक और देश के हजारों कांग्रेसी इस दिन को काले दिवस के तौर पर मनाएंगे. हम लोग सोशल मीडिया पर अपनी डिसप्ले तस्वीरों की जगह को काला छोड़ देंगे.’