‘अगर भाजपा गुजरात में जीत जाती है तो वह ईवीएम में हेरफेर करने में सफल रही है.’

— संजय सिंह, आम आदमी पार्टी के नेता

आप नेता संजय सिंह का यह बयान गुजरात में भाजपा के जीतने के एक्जिट पोल्स के पूर्वानुमानों पर सवाल उठाते हुए आया. उन्होंने कहा, ‘पाटीदार नेता हार्दिक पटेल की रैलियों में काफी भीड़ होती थी. कई रैलियों में भाजपा कार्यकर्ताओं का उत्साह गायब था. यहां तक कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैलियों में कम लोग आते थे.’ संजय सिंह ने उन खबरों का भी जिक्र किया, जिनमें गुजरात स्टेट पेट्रोलियम कार्पोरेशन लिमिटेड में घोटाले का इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) के लिए माइक्रोचिप बनाने वाली विदेशी कंपनी से कथित संबंध जोड़ा गया है.

‘अगर (भाजपा) सरकार देश और राज्य के हित में कुछ नहीं करती तो (गठबंधन का) कोई फायदा नहीं है.’

— संजय राउत, शिवसेना सांसद

शिवसेना सांसद संजय राउत का यह बयान युवा सेना के नेता आदित्य ठाकरे द्वारा एक साल के भीतर भाजपा से नाता तोड़ने की घोषणा का समर्थन करते हुए आया. उन्होंने कहा, ‘जो बात आदित्य ठाकरे ने कही है, उसे उद्धव ठाकरे पहले ही कह चुके हैं. इसमें कोई शक नहीं कि दोनों दलों (भाजपा और शिवसेना) के संबंध अच्छे नहीं चल रहे हैं.’ गुरुवार को महाराष्ट्र की देवेंद्र फड़णवीस सरकार की आलोचना करते हुए आदित्य ठाकरे ने कहा था कि उनकी पार्टी भाजपा से अलग होकर अपने दम पर सत्ता में आएगी. हालांकि, यह पहला मौका नहीं है, जब शिवसेना ने गठबंधन तोड़ने की चेतावनी दी है.


‘संसद में विनती शब्द का इस्तेमाल करने की जरूरत नहीं है... यह आजाद भारत है.’

— एम वेंकैया नायडू, राज्यसभा के सभापति

राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू ने यह बात उच्च सदन में मंत्रियों द्वारा कागजातों और रिपोर्टों को पेश करते समय ‘मैं विनती करता हूं’ कहे जाने पर आपत्ति दर्ज कराते हुए कही. उन्होंने कहा कि ‘मैं विनती करता हूं’ की जगह ‘मैं इसे पेश करने के लिए खड़ा हुआ हूं’ कहा जाना चाहिए. एम वेंकैया नायडू ने सदन में औपनिवेशिक दौर के शब्दों का इस्तेमाल न करने की सलाह दी. उन्होंने शीतकालीन सत्र के पहले दिन खड़े होकर दिवंगत सदस्यों को याद किया. हालांकि, उनके पूर्ववर्ती भैरो सिंह शेखावत और हामिद अंसारी अपनी सीट पर बैठकर पूर्व दिवंगत सदस्यों को श्रद्धांजलि देते थे.


‘गुजरात में भाजपा का दिल्ली और बिहार जैसा हाल होगा.’

— भरतसिंह सोलंकी, गुजरात में कांग्रेस के अध्यक्ष

कांग्रेस नेता भरतसिंह सोलंकी का यह बयान एक्जिट पोल्स में गुजरात में भाजपा के जीतने के पूर्वानुमानों को खारिज करते हुए आया. उन्होंने कहा कि कांग्रेस गुजरात में 120 से ज्यादा सीटें जीतने जा रही है. वहीं, भाजपा नेता और केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा है कि कांग्रेस को एक्जिट पोल्स से डरने की जरूरत नहीं है, क्योंकि 18 दिंसबर के परिणाम और ज्यादा चौंकाने वाले होंगे. उन्होंने यह भी कहा कि देश की जनता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ डटकर खड़ी है, जिसे कांग्रेस पचा नहीं पा रही है. केंद्रीय मंत्री के मुताबिक गुजरात में जनता पहले दिन से कांग्रेस के साथ नहीं थी.

‘पश्चिम देशों को समुद्र के भीतर से गुजरने वाली इंटरनेट केबलों की रूस से सुरक्षा करनी चाहिए.’

— स्टुअर्ट पीच, ब्रिटेन के सैन्य प्रमुख

ब्रिटेन के सैन्य प्रमुख स्टुअर्ट पीच का यह बयान रूस से पश्चिम देशों के सामने आने वाले नए खतरों की चर्चा करते हुए आया. उन्होंने कहा, ‘हमारे सामने समुद्र के नीचे से गुजरने वाली केबलों के लिए जोखिम पैदा करने वाला खतरा मौजूद है.’ स्टुअर्ट पीच ने आगे कहा कि रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन अपनी नौसेना का आधुनिकीकरण कर रहे हैं जो पश्चिमी देशों की संचार व्यवस्था के लिए बड़ा खतरा है. उनके मुताबिक रूस गैर-पारंपरिक और सूचना आधारित युद्ध क्षमता को बढ़ाने वाले नए जहाजों और पनडुब्बियों में इजाफा कर रहा है. समुद्र के नीचे से गुजरने वाले इंटरनेट केबलों से दुनिया का 95 फीसदी संचार और 10 लाख करोड़ डॉलर का लेन-देन होता है.