आधार संख्या जारी करने वाली संस्था भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) ने भारती एयरटेल और एयरटेल पेमेंट बैंक का ई-केवाईसी (इलेक्ट्रॉनिक तरीके से अपने ग्राहकों की पहचान की प्रणाली) लाइसेंस अस्थायी तौर पर निलंबित कर दिया है. इससे एयरटेल अब आधार की सहायता से अपने मोबाइल धारकों के सिम का इलेक्ट्रॉनिक तरीके से प्रमाणन नहीं कर पाएगी. एयरटेल पेमेंट बैंक भी ‘आधार ई-केवाईसी’ के जरिए नए खाते नहीं खोल पाएगा. हालांकि अन्य तरीके से नए खाते खोले जा सकते हैं.

इन दोनों कंपनियों पर आरोप था कि वे आधार-ईकेवाईसी प्रक्रिया का इस्तेमाल कर बिना उपभोक्ताओं की मर्जी के उनके पेमेंट बैंक खाते खोल रही हैं. इन पर यह आरोप भी था कि ऐसे खुले पेमेंट बैंक खातों को बिना ग्राहक से पूछे उनकी एलपीजी सब्सिडी प्राप्त करने के लिए एलपीजी कनेक्शन से जोड़ा जा रहा था. यूआईडीएआई ने ऐसे आरोपों को गंभीर बताते हुए इन दोनों कंपनियों को कड़ी फटकार लगाई है. रिपोर्ट के अनुसार अगले आदेश तक इन दोनों कंपनियों के लाइसेंस निलंबित रहेंगे.