निर्वाचन आयोग ने चेन्नई उत्तर के जेसीपी (संयुक्त पुलिस आयुक्त) सुधाकर का तबादला कर दिया है. तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री (दिवंगत) जे जयललिता का विधानसभा क्षेत्र- आरके नगर इसी इलाके में पड़ता है. यहां विधानसभा उपचुनाव की जारी प्रक्रिया के दौरान मतदाताओं को रिश्वत दिए जाने की शिकायतें लगातार सामने आ रही हैं. इसी के बाद चुनाव आयोग ने यह कदम उठाया है.

द न्यू इंडियन एक्सप्रेस ने आधिकारिक आदेश के हवाले से बताया है कि सुधाकर की जगह चेन्नई दक्षिण (यातायात) के जेसीपी प्रेम आनंद सिन्हा को पदस्थ किया जा रहा है. आयोग ने तत्काल प्रभाव से यह आदेश लागू करने के लिए सरकार से कहा है. ग़ौरतलब है कि आरके नगर विधानसभा क्षेत्र में 21 दिसंबर को उपचुनाव के लिए मतदान है. जबकि नतीजे की घोषणा 24 दिसंबर को की जाएगी.

यह सीट राज्य की सत्ताधारी एआईएडीएमके (अखिल भारतीय अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम), विपक्षी डीएमके (द्रविड़ मुनेत्र कड़गम), केंद्र में सरकार चला रही भारतीय जनता पार्टी और एआईएडीएमके से निष्कासित नेता टीटीवी दिनाकरण के लिए प्रतिष्ठा का प्रश्न बनी हुई है. दिनाकरण सहित तीनों दलों के उम्मीदवार भी यहां मैदान में हैं. और जीतने के लिए सभी तरह के हथकंडे भी अपनाए जा रहे हैं.

मसलन- डीएमके के कार्यकारी अध्यक्ष एमके स्टालिन ने रविवार को ही चुनाव आयोग से शिकायत की कि एआईएडीएमके मतदाताओं को वोट के बदले रिश्वत दे रही है. ऐसे ही आरोप दिनाकरण पर भी लगाए जा रहे हैं. मीडिया में इस बाबत ख़बरें आई हैं. हालांकि इस तरह का यह पहला मौका भी नहीं है. अप्रैल में भी इस क्षेत्र से ऐसी ही खबरें सामने आई थीं. तब चुनाव आयोग ने उपचुनाव रद्द कर दिया था.