केंद्र सरकार ने कार सहित तमाम चार पहिए वाहनों के आगे लगाए जाने वाले बंपर गार्ड (बुलबार) को गैर-कानूनी घोषित करते हुए इस पर रोक लगा दी है. केंद्रीय सड़क, परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने सभी राज्यों को भेजे अपने आदेश में कहा है कि ऐसे बंपर गार्ड का उपयोग मोटर वाहन कानून, 1988 की धारा 52 का उल्लंघन है. केंद्र ने राज्यों से इसे लगाने वालों पर कड़ी कार्रवाई करने को कहा है.

सरकार का तर्क है कि ये बंपर गार्ड न केवल दूसरे लोगों के लिए बल्कि भारी टक्कर की हालत में गाड़ी में बैठे लोगों के लिए भी घातक साबित होते हैं. जानकारों के अनुसार ये बंपर गार्ड जिन दो ​प्वाइंट पर लगाए जाते हैं, टक्कर के बाद सारा बल वहीं लग जाता है, जिससे गाड़ी में बैठे लोगों को ज्यादा नुकसान पहुंचता है. यही नहीं इसके चलते कारों में आगे लगे एयरबैग के सेंसर भी सही ढंग से काम नहीं कर पाते. इससे टक्कर होने की स्थिति में गाड़ी के एयरबैग नहीं खुल पाते. इसके अलावा छोटी-मोटी दुर्घटनाओं में भी गाड़ी के सामने आने वाले लोगों को इसके चलते ज्यादा चोट पहुंचने की आशंका बढ़ जाती है.

हमारे देश में टक्कर होने पर गाड़ी की बॉडी को नुकसान से बचाने के लिए आगे बंपर गार्ड लगाए जाने का चलन है. इसका प्रचलन इतना आम है कि ज्यादातर वाहन मालिकों को यह पता ही नहीं है कि यह गैर-काूननी है.