2जी घोटाला साबित करने के लिए अच्छे वकील चाहिए, चमचागिरी करने वाले नहीं.’

— सुब्रमण्यम स्वामी, भाजपा के राज्यसभा सांसद

भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी का यह बयान 2जी घोटाला मामले में सभी आरोपितों के बरी होने के लिए पूर्व अटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी को जिम्मेदार ठहराते हुए आया. उन्होंने कहा, ‘मुकुल रोहतगी ने इसका स्वागत किया है. जब उन्हें अटॉर्नी जनरल बनाया गया था, तब मैंने प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर इसका विरोध किया था क्योंकि वे इसमें आरोपित कई कंपनियों के वकील थे.’ सुब्रमण्यम स्वामी ने आगे कहा कि ऐसे लोगों को कानून अधिकारी नहीं बनाना चाहिए, इससे सरकार का भ्रष्टाचार के प्रति गंभीर न होने का संदेश जाता है. भाजपा नेता के मुताबिक इस फैसले से भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई पटरी से उतर गई है, लेकिन उसे वापस रास्ते पर लाया जा सकता है.

‘सचिन तेंदुलकर को संसद में बोलने न देना शर्म की बात है.’

— जया बच्चन, राज्यसभा सांसद

सांसद जया बच्चन का यह बयान राज्यसभा में हंगामे की वजह से पूर्व क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर को बोलने का मौका न मिलने पर आया. कांग्रेस सांसदों ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के खिलाफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की टिप्पणी को लेकर हंगामा किया, जिसके बाद सदन की कार्यवाही स्थगित हो गई. जया बच्चन ने आगे कहा, ‘हर किसी को आज का एजेंडा पता था, क्या सदन में केवल नेताओं को बोलने का हक है.’ उन्होंने यह भी कहा कि अगर किसी के साथ ऐसा व्यवहार होगा तो कौन सदन में आना चाहेगा. सचिन तेंदुलकर राज्यसभा के मनोनीत सांसद हैं.


‘मैंने सात साल तक सबूतों का इंतजार किया, लेकिन सब बेकार चला गया.’

— ओपी सैनी, केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) के विशेष जज

विशेष सीबीआई जज ओपी सैनी ने यह बात 2जी स्पेक्ट्रम आवंटन घोटाला मामले के सभी आरोपितों को बरी करने के अपने फैसले में कही. उन्होंने कहा, ‘कोई आगे नहीं आया. यह बताता है कि हर किसी के पास अफवाह और कही-सुनी बातों से बनी आम धारणा थी, लेकिन न्यायिक प्रक्रिया में आम धारणा की कोई जगह नहीं होती.’ उन्होंने यह भी कहा कि सीबीआई ने पूर्व दूरसंचार मंत्री ए राजा और अन्य लोगों के खिलाफ गलत तथ्य दर्ज किए थे. जज ओपी सैनी ने आगे कहा कि अभियोजन पक्ष (सीबीआई) आरोपितों पर आरोपों को साबित करने में बुरी तरह नाकाम रहा.


‘अदालत के फैसले के जरिए कांग्रेस 2जी घोटाले में अपनी गलती छिपाने की कोशिश कर रही है.’

— धर्मेंद्र प्रधान, केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री

केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान का यह बयान कांग्रेस द्वारा 2जी स्पेक्ट्रम में आए फैसले को अपनी नैतिक जीत बताने पर आया. उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस उस समय की गई स्पेक्ट्रम की नीलामी पर कुछ क्यों नहीं बोल रही?’ वहीं, केंद्रीय दूरसंचार मंत्री मनोज सिन्हा ने कहा, ‘मुझे अदालत के फैसले पर कुछ नहीं कहना है. लेकिन खुद सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि पूरी प्रक्रिया मनमानी है.’ उन्होंने आगे कहा कि 2008 में 2जी स्पेक्ट्रम की नीलामी प्रक्रिया गलत और भ्रष्ट थी, कांग्रेस इस पर आए अदालत के फैसले की गलत व्याख्या कर रही है.


‘कुलभूषण जाधव को तत्काल फांसी का कोई खतरा नहीं है.’

— मोहम्मद फैसल, पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता

पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल का यह बयान पाकिस्तान में बंद भारतीय नौसेना के पूर्व अधिकारी कुलभूषण जाधव को जल्द फांसी देने की खबरों को खारिज करते हुए आया. उन्होंने कहा, ‘कुलभूषण जाधव की दया याचिका अभी तक लंबित है.’ मोहम्मद फैसल ने आगे कहा कि कुलभूषण जाधव की मां और पत्नी को इस्लामिक प्रथा और मानवीय आधार पर उनसे मिलने की इजाजत दी गई है. उन्होंने यह भी कहा कि कुलभूषण जाधव की मां और उनकी पत्नी दोनों को वीजा दिया गया है, उनकी मुलाकात विदेश मंत्रालय में होगी. मोहम्मद फैसल के मुताबिक पाकिस्तान इस मुलाकात के लिए पूरी तरह तैयार है, बस भारत के फैसले का इंतजार है.