बहुचर्चित चारा घोटाले के देवघर मामले में दोषी ठहराए जाने के बाद राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने सिलसिलेवार ट्वीट कर विरोधियों पर निशाना साधा. उन्होंने लिखा, ‘पूर्वाग्रही दुष्प्रचार के जरिए सत्य को झूठा, संदिग्ध या अर्धसत्य के रूप में पेश किया जा सकता है, लेकिन पूर्वाग्रह और नफरत की यह परत एक दिन जरूर हटेगी और अंत में सत्य ही जीतेगा.’ भाजपा पर निशाना साधते हुए लालू प्रसाद यादव ने कहा, ‘धूर्त भाजपा अपनी जुमलेबाजी और कारगुजारियों को छुपाने और वोट लेने के लिए विपक्षियों का पब्लिक पर्सेप्शन बिगाड़ने के लिए अनैतिक और द्वेष की भावना से ग्रस्त गंदा खेल खेलती है.’

वहीं, वरिष्ठ पत्रकार शेखर गुप्ता का एक ट्विटर शेयर करते हुए लालू प्रसाद यादव ने लिखा, ‘ताकतवर लोग और ताकतवर ताकतें हमेशा समाज को शासक और शासित में बांटने में सफल होती है. और जब अगर निचले क्रम का कोई व्यक्ति इस अन्याय को चुनौती देता है तो वे उसे पूरी शिद्दत से सजा देते हैं.’ पत्रकार शेखर गुप्ता ने अपने ट्वीट में लिखा था, ‘भ्रष्टाचार की जाति : निचली जातियां, मातहत समूह ज्यादा भ्रष्ट हैं? या यह व्यवस्था उनके खिलाफ है? तथ्यों से मुंह नहीं चुरा सकते.’

राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने बिहार की जनता को अपने साथ बताया. उन्होंने लिखा, ‘झूठे जुमले बुनने वालों सच अपनी ज़िद पर खड़ा है. धर्मयुद्ध में लालू अकेला नहीं पूरा बिहार साथ खड़ा है.’ उन्होंने यह भी लिखा, ‘सामंती ताकतों, जानता हूं लालू तुम्हारी राहों का कांटा नहीं आंखों की कील है. पर इतनी आसानी से नहीं उखाड़ पाओगे. कान खोल कर सुनो, आप इस गुदड़ी के लाल को परेशान कर सकते हो, पराजित नहीं.’