म्यांमार की सेना ने दो महीने में 40 रोहिंग्या गांव उजाड़े : ह्यूमन राइट्स वॉच | सोमवार, 18 दिसंबर 2017

मानवाधिकार संगठन ह्यूमन राइट्स वॉच ने रोहिंग्या मुसलमानों पर अत्याचार को लेकर म्यांमार सेना पर गंभीर आरोप लगाया है. सोमवार को इस गैर-सरकारी सगंठन ने कहा कि म्यांमार सेना ने अक्टूबर और नवंबर में 40 रोहिंग्या मुसलमान गांवों को उजाड़ा. ह्यूमन राइट्स वॉच ने आगे कहा कि 25 अगस्त के बाद बाद म्यांमार के रखाइन राज्य में रोहिंग्या मुसलमानों के 354 गांवों को पूरी तरह या आंशिक तौर पर उजाड़ा गया था.

सैटेलाइट चित्रों के आधार पर मानवाधिकार संगठन ने दावा किया है कि जिस हफ्ते बांग्लादेश और म्यांमार के बीच रोहिंग्या शरणार्थियों की वापसी का समझौता हुआ, उसी हफ्ते दर्जनों इमारतों को जलाया गया था. ह्यूमन राइट्स वॉच के एशिया प्रमुख ब्रैड एडम्स ने कहा, ‘रोहिंग्या शरणार्थियों की वापसी के समझौते के कुछ दिन बाद उन पर अत्याचार बताता है कि रोहिंग्या मुसलमानों की सुरक्षित वापसी का वादा केवल दिखावा है.’

वॉन्नाक्राई साइबर अटैक के लिए उत्तर कोरिया जिम्मेदार : अमेरिका | मंगलवार, 19 दिसंबर 2017

अमेरिका ने इस साल हुए वान्नाक्राई साइबर अटैक के लिए उत्तर कोरिया को जिम्मेदार बताया है. इस साइबर हमले में हैकरों ने दुनियाभर के अस्पतालों, बैंकों और कई दूसरी कंपनियों के कंप्यूटर सिस्टम को हैक कर लिया था. एनडीटीवी के मुताबिक सोमवार को वॉल स्ट्रीट जनरल (ऑनलाइन) में प्रकाशित हुए एक लेख में वाइट हाउस के होमलैंड सिक्यॉरिटी अडवाइजर टॉम बॉसर्ट ने कहा, ‘यह व्यापक साइबर हमला था जिसने अरबों का नुकसान किया. उत्तर कोरिया इसके लिए सीधे तौर पर जिम्मेदार है.’

टॉम ने कहा कि अमेरिका को नुकसान पहुंचाने वाले किसी भी व्यक्ति को जवाबदेह ठहराया जाएगा. हालांकि उन्होंने यह नहीं लिखा कि साइबर हमले को लेकर अमेरिका उत्तर कोरिया पर क्या कार्रवाई करने जा रहा है. उन्होंने लिखा कि अमेरिका ज्यादा से ज्यादा दबाव बनाने की रणनीति पर काम करता रहेगा.

हाफिज सईद के चुनाव लड़ने की संभावना ने अमेरिका की चिंता बढ़ा दी है | बुधवार, 20 दिसंबर 2017

अमेरिका ने जमात-उद-दावा के प्रमुख और लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी) के संस्थापक हाफिज सईद के 2018 में चुनाव लड़ने की संभावनाओं को लेकर चिंता जाहिर की है. पीटीआई के मुताबिक राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के प्रशासन में विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हीदर नॉर्ट ने कहा कि पाकिस्तान द्वारा हाफिज सईद की नजरबंदी हटाए जाने से अमेरिका में कड़ी प्रतिक्रिया हो रही है. हीदर नॉर्ट ने कहा, ‘मैं यह याद दिलाना चाहती हूं कि हाफिज सईद पर एक करोड़ अमेरिकी डॉलर का इनाम है और हम उसके चुनाव लड़ने को लेकर चिंतित हैं.’

बीती 24 नवंबर को पाकिस्तान ने हाफिज सईद की नजरबंदी खत्म कर दी थी. उसके बाद हाफिज सईद ने पुष्टि की थी कि उसका संगठन 2018 में पाकिस्तान के आम चुनाव में मिल्ली मुस्लिम लीग के झंडे के तहत चुनाव लड़ेगा. हालांकि मिल्ली मुस्लिम लीग अभी तक पाकिस्तान के निर्वाचन आयोग के तहत पंजीकृत नहीं हुआ है.

कुलभूषण जाधव पर तुरंत फांसी का कोई खतरा नहीं : पाकिस्तान | गुरुवार, 21 दिसंबर 2017

पाकिस्तान ने इन अटकलों को खारिज किया है कि भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव को तुरंत फांसी दी जा सकती है. कुलभूषण जाधव से उनकी मां और पत्नी सोमवार को मुलाकात करने वाली हैं. इसे देखते हुए आशंका जताई जा रही थी कि पाकिस्तान ने इस मुलाकात की इजाजत इसलिए दी है कि जाधव फांसी से पहले अपने घरवालों से आखिरी बार मिल सकें.

लेकिन पाकिस्तानी विदेश विभाग ने कहा है कि इस मुलाकात की इजाजत मानवीय आधार पर दी गई है और कुलभूषण जाधव को तुरंत फांसी देने जैसी कोई बात नहीं है. 47 साल के इस भारतीय नागरिक को पाकिस्तान की सैनिक अदालत ने जासूसी और आतंकवाद के आरोप में फांसी की सजा सुनाई है. कुलभूषण जाधव की दया याचिका अभी लंबित है.

स्पेन की सरकार को झटका, कतालोनिया में अलगाववादियों को बहुमत मिला | शुक्रवार, 22 दिसंबर 2017

स्पेन में जारी राजनीतिक संकट और गहरा गया है. गुरुवार को वहां के कतालोनिया (कैटेलोनिया) प्रदेश में हुए चुनाव में अलगाववादियों ने बहुमत हासिल कर लिया है. कतालोनिया के अपदस्थ मुख्यमंत्री कार्ल्स पुज्देमोन के तीन पार्टियों वाले गठबंधन को सबसे ज्यादा (70) सीटें मिली हैं. स्पेनी संघीय सरकार के लिए यह बड़ा झटका है. चुनावों में स्पेन से अलग होने का समर्थन करने और उसके साथ रहने का समर्थन करने वाली पार्टियां आमने सामने थीं और माना जा रहा था कि यह चुनाव भी एक तरह का जनमतसंग्रह बन गया है. इससे पहले स्पेन ने कतालोनिया में आज़ादी के लिए हुए जनमत संग्रह को अवैध ठहराते हुए अक्तूबर में अलगाववादी पार्टियों की सरकार को निलंबित कर दिया था.

हालांकि बहुमत के बावजूद अलगाववादी गठबंधन की नयी सरकार तुरंत नहीं बन पायेगी. इसका कारण यह है कि उसके लगभग सभी नेता या तो जेल में हैं या बेल्जियम में. उधर, कार्ल्स पुज्देमोन ने कहा है कि अब कोई भी चुनाव नतीजों पर सवाल खड़े नहीं कर सकता. वैसे स्पेन के साथ रहने की समर्थक सिटिजंस पार्टी ने संसद में सबसे ज्यादा सीटें हासिल की हैं और नियमों के मुताबिक उसे ही सरकार बनाने का पहला मौका मिल सकता है.

फिलीपींस : टेमबिन तूफान से मरने वालों की संख्या 133 पहुंची | शनिवार, 23 दिसंबर 2017

फिलीपींस में आए उष्णकटिबंधीय तूफान टेमबिन से मरने वालों की संख्या 133 पहुंच गई है. समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार राहतकर्मियों ने शनिवार को दक्षिणी फिलीपींस में उफनाई एक नदी से कई दर्जन शवों को बाहर निकाला है. टेमबिन तूफान शुक्रवार को फिलिपींस के दूसरे सबसे बड़े द्वीप मिंडनाओ से टकराया था, जिसके बाद बाढ़ और भूस्खलन की घटनाएं सामने आई थीं.

खबरों के अनुसार दक्षिणी फिलीपींस में भूस्खलन से पहाड़ी गांव दालामा का नक्शे से नामोनिशान मिट गया है. यहां 2000 लोग रहते थे. तुबोड कस्बे के एक पुलिस अधिकारी रेयान कबुस ने बताया, ‘नदी में अाए उफान से ज्यादातर घर बह गए हैं और वह गांव वहां पर है ही नहीं.’ उन्होंने यह भी कहा कि वहां रहने वाले लोगों का पता लगाने की कोशिश की जा रही है. यहां संचार और बिजली लाइनें ठप पड़ गई है, जिससे राहत और बचाव कार्य में दिक्कत हो रही है.