गुजरात में लगातार छठी बार सरकार बनाने वाली भारतीय जनता पार्टी के नेता विजय रूपाणी ने मंगलवार को मुख्यमंत्री पद की शपथ ले ली. इस पद पर उनका यह लगातार दूसरा कार्यकाल शुरू हुआ है. उपमुख्यमंत्री की हैसियत से नितिन पटेल भी लगातार दूसरी बार ही उनके साथ सरकार में शामिल हुए हैं.

ख़बराें के मुताबिक मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री के अलावा कुल आठ कैबिनेट और 10 राज्य मंत्रियों ने भी शपथ ली है. इस माैके पर गांधीनगर में हुए भव्य समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह, पार्टी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी, केंद्र के मंत्री और 18 राज्यों के मुख्यमंत्री भी शामिल हुए. इन मुख्यमंत्रियों में भाजपा शासित राज्यों के अलावा उन राज्यों के मुख्यमंत्री भी शामिल थे जहां एनडीए (राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन) के घटक दलों की सरकार है. मसलन- बिहार. यहां से जनता दल- यूनाइटेड के नेता और राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अपने डिप्टी भाजपा के सुशील कुमार के साथ मंच पर मौजूद थे.

50 छोटे-बड़े विशेष विमानों से विशिष्ट अतिथि समारोह में पहुंचे

डीएनए की खबर के मुताबिक इस समारोह के लिए भाजपा बड़े पैमाने पर तैयारियां की थीं. सचिवालय परिसर में 2,500 वर्गमीटर के विस्तार पर पांडाल लगाया गया था. इसमें करीब 10,000 लोगों के बैठने का इंतज़ाम था. बताया जाता है कि समारोह में शामिल होने वाले विशिष्ट अतिथि भी करीब 50 छोटे-बड़े विशेष विमानों से अहमदाबाद पहुंचे. अहमदाबाद के सरदार वल्लभभाई पटेल हवाई अड्‌डे के उच्च पदस्थ सूत्रों ने इस वीआईपी मूवमेंट की पुष्टि की है.

इस शपथ ग्रहण समारोह के बहाने भाजपा का शक्ति प्रदर्शन इसलिए भी ग़ौर करने लायक है कि पार्टी कड़े संघर्ष के बाद ही गुजरात में सरकार बनाने लायक बहुमत हासिल कर पाई है. पार्टी ने यहां पिछली बार 115 विधायकों के साथ सरकार बनाई थी. और इस बार 150 सीटें जीतने का लक्ष्य रखा था. जबकि वह सिर्फ़ 99 सीटें ही जीत पाई है.