सोमवार को दिल्ली की मजेंटा लाइन का उद्घाटन करने नोएडा गए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का काफिला कार्यक्रम स्थल से लौटते वक्त रास्ता भटक गया था. उनकी सुरक्षा में हुई इस चूक के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने दो पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया है. ये दोनों प्रधानमंत्री के काफिले में सबसे आगे चलने वाली पायलट गाड़ी में सवार थे. मीडिया रिपोर्टों के अनुसार उस दिन प्रधानमंत्री के साथ ही काफिले में मौजूद राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी इस चूक को लेकर नाराज बताए जा रहे हैं.

इस बारे में गौतम बुद्ध नगर जिले के एसएसपी लव कुमार ने बताया है कि जांच में एंटी डेमो वाहन के चालक और उसके प्रभारी सब-इंस्पेक्टर को दोषी पाया गया है. एसएसपी के मुताबिक एमिटी विश्वविद्यालय में उद्घाटन समारोह खत्म होने के बाद प्रधानमंत्री का काफिला बॉटनिकल गार्डेन में मौजूद हेलीपैड के लिए निकला था. लव कुमार ने आगे बताया, ‘नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस-वे की सर्विस रोड पर काफिले में आगे चल रहे एंटी डेमो वाहन का चालक तयशुदा रास्ते से पहले वाले कट से ही एक्सप्रेस-वे पर चढ़ गया. लेकिन उस रास्ते पर सुरक्षा बल तैनात नहीं थे.’ पुलिस के मुताबिक इसके चलते दो मिनट के लिए अनिश्चितता की स्थिति रही. फिर पुलिस ने तुरंत समझदारी दिखाते हुए वहां से गुजर रही गाड़ियों को रोक दिया. उसके बाद ही प्रधानमंत्री के काफिले को बॉटनिकल गार्डन की ओर रवाना किया गया.