‘अगर कोई संविधान बदलना चाहेगा तो हम उसे बदल देंगे.’

— रामदास अठावले, केंद्रीय सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री

केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले का यह बयान संविधान से धर्मनिरपेक्षता शब्द को हटाने की केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार हेगड़े की विवादित टिप्पणी से जुड़े सवाल पर आया. उन्होंने कहा, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संविधान को पवित्र किताब मानते हैं.’ रामदास अठावले ने आगे कहा कि भाजपा को अनंत कुमार हेगड़े के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए. वहीं, गुजरात में भाजपा की जीत पर उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी (रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया-अठावले) ने भाजपा का समर्थन किया था, जिसकी वजह से भाजपा को गुजरात में बहुमत मिल पाया. रामदास अठावले ने आगे कहा कि दलित पहले भाजपा का समर्थन नहीं करते थे, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की समावेशी नीतियों की वजह से अब उसका साथ दे रहे हैं.

‘पुलवामा आतंकी हमले से साबित हो गया कि सर्जिकल स्ट्राइक एक नाटक था.’

— संदीप दीक्षित, कांग्रेस नेता

कांग्रेस नेता संदीप दीक्षित का यह बयान रविवार को पुलवामा में सीआरपीएफ के ट्रेनिंग सेंटर पर आतंकी हमले में पांच जवानों के शहीद होने पर आया. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान को लेकर मोदी सरकार की मौजूदा नीतियां सही से काम नहीं कर रही हैं. संदीप दीक्षित ने आगे कहा, ‘हमें अलग तरीके के सोचना होगा. लेकिन मुझे नहीं लगता कि यह सरकार हमारी सीमाओं को सुरक्षित रख पाने में सक्षम है.’ बीते हफ्ते थाईलैंड में पाकिस्तान के साथ राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) स्तर की बातचीत पर कांग्रेस नेता ने कहा कि एक तरफ आप (केंद्र सरकार) पाकिस्तान को दुश्मन बताते हैं, दूसरी तरफ उसके साथ एनएसए स्तर पर बातचीत भी कर रहे हैं.


‘पहले भारतीय हमारे गुरु थे, लेकिन अब वे चेला बन गए हैं और दूसरे (पश्चिमी देश) उनके गुरु.’

— दलाई लामा, तिब्बती बौद्धों के धर्मगुरु

तिब्बती बौद्ध के धर्मगुरु दलाई लामा ने यह बात भारतीयों पर पश्चिमी सभ्यता का अंधानुकरण करने का आरोप लगाते हुए कही. उन्होंने कहा, ‘आधुनिक भारतीय अपने प्राचीन विचारों को नजरअंदाज कर रहा है. भारतीयों का बहुत ज्यादा पश्चिमीकरण हो गया है.’ दलाई लामा ने आगे कहा कि भारतीयों को अपने प्राचीन विचारों पर ज्यादा ध्यान देना चाहिए और उसे भूलना नहीं चाहिए. उन्होंने यह भी कहा कि प्राचीन भारतीय ज्ञान को दोबारा हासिल करने की जरूरत है, इससे भारत बाकी दुनिया से अलग पहचान बना सकता है. दलाई लामा के मुताबिक भारतीय ज्ञान और परंपराएं इंसानों की आंतरिक शांति को नियंत्रित कर सकती है.


‘अगर रजनीकांत के भाजपा की तरफ झुकाव की धारणा बनती है तो तमिलनाडु के लोगों के लिए उनको स्वीकार कर पाना मुश्किल होगा.’

— ए सरवनन, डीएमके के प्रवक्ता

डीएमके के प्रवक्ता ए सरवनन का यह बयान अभिनेता रजनीकांत के राजनीति में उतरने की घोषणा को लेकर आया. उन्होंने कहा, ‘जाने-अनजाने में यह धारणा बनी है कि वे भाजपा के साथ हैं या भाजपा खुद को उनके साथ जोड़ रही है.’ ए सरवनन ने आगे कहा कि लोग इसको लेकर बहुत ज्यादा उत्साहित नहीं होंगे, क्योंकि वे रजनीकांत को एक व्यक्ति के रूप में पसंद करते हैं. उन्होंने भाजपा पर तमिलनाडु के साथ सौतेला व्यवहार करने का भी आरोप लगाया. रजनीकांत द्वारा धर्म और जाति से हटकर राजनीति करने की जरूरत बताए जाने पर ए सरवनन ने कहा कि बीते 50 सालों से पैर जमाए द्रविड़ विचारधारा की जमीन पर उनकी यह आध्यात्मिक राजनीति कैसे जगह बना पाएगी, यह बड़ा सवाल है.


‘पीसीबी को भी राहुल द्रविड़ की तरह किसी टेस्ट खिलाड़ी को अपनी अंडर-19 टीम का कोच बनाना चाहिए.’

— रमीज़ राजा, पाकिस्तानी क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान

पाकिस्तानी टीम के पूर्व कप्तान रमीज़ राजा ने यह बात पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) से प्रतिभाशाली खिलाड़ियों की पहचान करने उन पर ध्यान देने की सलाह देते हुए कही. उन्होंने कहा कि अंडर-19 टीम के साथ राहुल द्रविड़ जैसा कोच होने पर वे कोई भी कमाल कर सकते हैं. रमीज़ राजा ने आगे कहा कि आयु वर्ग के हिसाब से होने वाली प्रतियोगिताओं में हार-जीत से ज्यादा प्रतिभाशाली खिलाड़ियों की पहचान करना ज्यादा मायने रखती है. उन्होंने यह भी कहा कि पाकिस्तान को अंडर-16 और अंडर-19 टीमों से अच्छे खिलाड़ियों की पहचान कर उन निखारने पर ध्यान देना चाहिए, यह भविष्य के लिए अच्छा निवेश साबित हो सकता है.