कनाडा स्थित 14 गुरुद्वारा समितियों ने अपने यहां भारत सरकार के प्रतिनिधियों के प्रवेश पर रोक लगा दी है. ये सभी गुरुद्वारे कनाडा के ओन्टारियो प्रांत में हैं. इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक एक स्थानीय कानून का इस्तेमाल करते हुए यह प्रतिबंध लगाया गया है. हालांकि निजी तौर पर आने वाले किसी भारतीय अधिकारी के आने पर कोई रोक नहीं है.

इस बारे में बात करते हुए समितियों के प्रवक्ता अमरजीत सिंह मान ने बताया, ‘हमने आधिकारिक रूप से यह फैसला ले लिया है. भारतीय अधिकारियों को इन 14 गुरुद्वारों में से किसी में भी बोलने या कोई कार्यक्रम आयोजित नहीं करने दिया जाएगा.’ अमरजीत के मुताबिक भारतीय अधिकारी गुरुद्वारों के कामकाज में दखल देने की कोशिश करते हैं. उन्होंने आगे कहा, ‘अब वे यहां केवल श्रद्धालु के रूप में आ सकते हैं. हम तब भी उनकी गतिविधियों पर बारीकी से नजर रखेंगे.’

कनाडा में बसे भारतीय मूल के लोगों की संख्या 13 लाख से अधिक है. इनमें से अधिकतर लोग पंजाब से हैं और इनमें भी अधिकतर सिख समुदाय के. वहां सिखों के असर का अंदाजा इससे भी लगाया जा सकता है कि कनाडा के रक्षामंत्री हरजीत सिंह सज्जन भी सिख हैं. 1984 में ऑपरेशन ब्लू स्टार के बाद से कनाडा के सिखों में भारत सरकार को लेकर नाराजगी रही है. खबरों के मुताबिक कनाडा स्थित भारतीय उच्चायोग कुछ सालों से सिखों से रिश्ते बेहतर करने की कोशिश कर रहा है. इसलिए गुरुद्वारों का ताजा फैसला उसके लिए झटका है.