मुस्लिमों को बर्बर और सामूहिक बलात्कारी बताने वाली जर्मनी की दक्षिणपंथी नेता बीट्रिक्स वॉन स्टॉर्च को अब आपराधिक जांच का सामना करना पड़ेगा. खबरों के मुताबिक जर्मन पुलिस ने उन पर नफरत फैलाने का आरोप लगाया है और अभियोजकों से इसकी जांच करने को कहा है. जर्मनी में नफरत फैलाने के खिलाफ बने सख्त कानून के तहत दोष साबित होने पर उन्हें पांच साल की सजा हो सकती है.

जर्मनी की तीसरी सबसे बड़ी पार्टी ऑल्टरनेटिव फॉर डचलैंड की नेता बीट्रिक्स वॉन स्टॉर्च ने नए साल पर अरबी भाषा में ट्वीट करने के लिए कालोन पुलिस पर मुस्लिमों का तुष्टिकरण करने का आरोप लगाया था. ट्विटर पर उन्होंने लिखा था, ‘इस देश में क्या हो रहा है? पुलिस अरबी में ट्वीट क्यों कर रही है? क्या वे बर्बर और सामूहिक बलात्कारी पुरुषों की भीड़ को खुश करने की कोशिश कर रहे हैं?’ हालांकि, कालोन पुलिस ने 31 दिसंबर को अरबी के साथ-साथ जर्मनी, अंग्रेजी और फ्रेंच में भी नए साल का ट्वीट किया था.

ट्विटर ने बीट्रिक्स वॉन स्टॉर्च के ट्वीट को हटाते हुए उनका अकाउंट बंद कर दिया था. इसके बाद उन्होंने फेसबुक पर यही बात लिखी थी, जिसे वहां से भी हटा दिया गया था. बीट्रिक्स वॉन स्टॉर्च इसके जरिए 2014 में कालोन की एक घटना का जिक्र रही थीं. इसमें एक गिरजाघर और स्टेशन के आसपास 500 से ज्यादा महिलाओं के यौन शोषण की बात सामने आई थी. इसमें शामिल ज्यादातर संदिग्ध उत्तरी अफ्रीका के आप्रवासी थे.