रणनीतिक रूप से बेहद अहम जोजिला पास टनल का रास्ता साफ हो गया है. बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता वाली आर्थिक मामलों की कैबिनेट समिति ने इसकी मंजूरी दे दी. करीब 23 किलोमीटर लंबी यह सुरंग टू लेन होगी. 6909 करोड़ रु की लागत से बनने वाली यह योजना सात साल में पूरी होने का अनुमान है.

जोजिला दर्रा श्रीनगर-कारगिल-लेह राष्ट्रीय राजमार्ग पर 11,578 फुट की ऊंचाई पर है. सर्दियों में इस पर भारी बर्फबारी के चलते श्रीनगर, कारगिल और लेह का संपर्क एक-दूसरे से कट जाता है. इस सुरंग से यह समस्या खत्म हो जाएगी. सड़क परिवहन मंत्रालय ने कहा कि इसके बनने से न सिर्फ साल भर जम्मू-कश्मीर और लद्दाख का संपर्क बना रहेगा बल्कि इस इलाके के आर्थिक विकास में भी तेजी आएगी.