भारत ने पाकिस्तान द्वारा जारी किए गए कुलभूषण जाधव के नए वीडियो को खारिज किया है. इस वीडियो में कुलभूषण जाधव ने कहा है कि उन्होंने भारतीय राजनयिक को अपनी मां और पत्नी पर चीखते हुए सुना था और मुलाकात के दौरान उनकी मां की आंखों में डर झलक रहा था. एक बयान जारी कर विदेश मंत्रालय ने कहा कि यह प्रोपेगैंडा वीडियो दबाव डालकर बनाया गया है. बयान में यह भी कहा गया है कि पाकिस्तान की ऐसी कवायदों की कोई विश्वसनीयता नहीं है.

यह इस तरह का चौथा वीडियो है. भारत लगातार ऐसे वीडियो को खारिज कर रहा है. अधिकारियों के मुताबिक ये वीडियो दिखाता है कि पाकिस्तान भारी दबाव में है क्योंकि वह कुलभूषण जाधव की मां और पत्नी से हुई मुलाकात पर उठाई गई भारत के सवालों का जवाब नहीं दे सका, इसलिए वह विषय बदलना चाहता है. यह भी माना जा रहा है कि पाकिस्तान ने यह कवायद अमेरिका से पड़ रहे दबाव और घरेलू स्तर पर छाई अराजकता से ध्यान बंटाने के लिए की है.

कुलभूषण जाधव की मां और पत्नी उनसे मिलने 25 दिसंबर को इस्लामाबाद गई थीं. पाकिस्तानी अधिकारियों ने खुली मुलाकात की जगह शीशे की दीवार के आर-पार बैठाकर उनकी बातचीत कराई थी. इसके अलावा सुरक्षा के नाम पर उनकी चूड़ियां, कंगन और बिंदी तक उतरवा लिए गए थे. भारत ने इसे बदसलूकी करार देते हुए पाकिस्तान की कड़ी आलोचना की थी.

पिछले साल पाकिस्तान की एक सैन्य अदालत जासूसी के आरोप में कुलभूषण जाधव को मौत की सजा सुनाई थी. हालांकि, भारत की अपील पर नीदरलैंड स्थित अंतरराष्ट्रीय न्यायालय ने अंतिम फैसला आने तक इस पर रोक लगा दी है.