समूचा उत्तरी भारत ठंड से ठिठुर रहा है. उत्तर प्रदेश में बीते 24 घंटों में शीत लहर ने कम से कम चार लोगों की जान ले ली. इनमें से तीन मौतें मुजफ्फरनगर में हुई हैं जहां गुरुवार रात तापमान 3.4 डिग्री पहुंच गया था. मौसम विभाग का कहना है कि आने वाले दिनों में ठंड और बढ़ेगी. लखनऊ, आगरा, कानपुर, वाराणसी, बरेली और इलाहाबाद में प्रशासन ने स्कूलों को सोमवार तक बंद रखने के आदेश दे दिए हैं.

उधर, राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को सार्वजनिक जगहों पर अलाव जलाने की व्यवस्था करने के साथ-साथ गरीब और बेघर लोगों को कंबल बांटने के निर्देश दिए हैं. धुंध की घनी चादर के चलते प्रदेश के कई हिस्सों में परिवहन सेवाओं पर भी असर बड़ा है. कई ट्रेनें देर से चल रही हैं तो कुछ को रद्द कर दिया गया है. शुक्रवार को लखनऊ और दिल्ली के बीच चलने वाली शताब्दी एक्सप्रेस भी इनमें से एक रही.

इस बीच, मौसम विभाग ने शुक्रवार को कश्मीर घाटी में बर्फबारी की भविष्यवाणी की है. सोमवार रात जम्मू-कश्मीर के कारगिल कस्बे में पारा शून्य से 20 डिग्री नीचे चला गया था. मौसम के इस सबसे ठंडे दिन लेह का तापमान शून्य से 16.6 डिग्री नीचे दर्ज किया गया.

राजधानी दिल्ली में भी गुरुवार इस मौसम का सबसे ठंडा दिन रहा. तापमान गिरते हुए पांच डिग्री पर पहुंच गया. घने कोहरे के चलते गुरुवार और शुक्रवार को कम से कम 18 ट्रेनें रद्द करनी पड़ीं. कोहरे के कारण कई फ्लाइट्स में भी देरी हुई.