राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ लाए गए विशेषाधिकार हनन के नोटिस को लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन के पास भेज दिया है. राज्यसभा टीवी के मुताबिक कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी लोकसभा सदस्य हैं, इसलिए इस नोटिस को लोकसभा अध्यक्ष के पास भेजा गया है. राहुल गांधी ने बीते साल एक ट्वीट में राज्यसभा में सदन के नेता और केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली के उपनाम ‘जेटली’ को ‘जेटलाई’ लिख दिया था. इसे अपमानजनक और जानबूझकर की गई गलती बताते हुए भाजपा सांसद भूपेंद्र यादव ने राज्यसभा में कांग्रेस अध्यक्ष के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का नोटिस दिया था.

राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू ने पहले इस नोटिस पर विचार करने की बात कही थी. शीतकालीन सत्र के आखिरी दिन भाजपा सांसद भूपेंद्र यादव द्वारा इसके बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा था कि वे इस पर जल्द से जल्द कोई फैसला करेंगे.

बीते साल दिसंबर में गुजरात चुनाव के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर के घर पर हुई एक दावत को चुनाव में पाकिस्तान की कथित दखल से जोड़ते हुए टिप्पणी कर दी थी. इस दावत में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी सहित कई कांग्रेसी नेता शामिल हुए थे. हालांकि, शीतकालीन सत्र शुरू होने पर कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की इस टिप्पणी को पूर्व प्रधानमंत्री और पूर्व उपराष्ट्रपति की सत्यनिष्ठा पर उठाया गया सवाल बताकर विरोध शुरू कर दिया था. विपक्ष का कहना था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस पर सफाई दें और माफी मांगें. हालांकि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जगह सदन के नेता अरुण जेटली ने इस पर सफाई दी थी. इसके बाद संसद में बना गतिरोध खत्म हो गया था. इसी स्पष्टीकरण पर तंज करते हुए 27 दिसंबर को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक ट्वीट किया था, जिसमें अरुण जेटली के उपनाम की स्पेलिंग गलत लिखी थी.